Thursday, August 22, 2019

मोहन भागवत के इस कथन की "आरक्षण पर राष्टीय बहस" होनी चाहिए को एससी/एसटी हल्के में ले सकते है लेकिन में गम्भीरता से लूंगा

author photo
मोहन भागवत के इस कथन की "आरक्षण पर राष्टीय बहस" होनी चाहिए को एससी/एसटी हल्के में ले सकते है लेकिन में गम्भीरता से लूंगा क्योकि आरएसएस व भाजपा की इस बात में तारीफ कर सकता हूँ कि वो अपनी विचारधारा पर पूरी तरह से अडिग है और उसी के अनुसार कार्य कर रही है, बहुजन समाज की पार्टियो व संगठनों की तरह अपनी विचारधारा से समझौता नही करते है। अब;

"अगर सरकार सँविधान संशोधन बिल नही लाई तो आरक्षण 26 जनवरी 2020 को खत्म हो जाएगा। The Constitution (Ninety-fifth Amendment) Act, 2009 प्रभावी 25 जनवरी 2010 को हुआ था जिसकी मियाद 10 वर्ष थी जो कि 26 जनवरी 2020 को पूरी हो रही है"

वैसे राजनैतिक आरक्षण को खत्म करना इतना आसान नही है। इसलिए मनोवैज्ञानिक तौर पर देश मे एक माहौल का निर्माण किया जाएगा। इसमे एससी/एसटी अलग थलग भी पड़ सकते है। मीडिया में अब पूर्व नियोजित इसी प्रकार की डिबेट करवाई जाएगी, उसमे दिखाया जाएगा कि जातिवाद का कारण राजनैतिक आरक्षण ही है। मेरा व्यक्तिगत यह मानना है की मोहन भागवत का बयान इसी कड़ी की शुरुआत है। 

भागवत ने जैसे ही आरक्षण पर राष्टीय बहस के बारे में  कहा, सरकार समर्थित मीडिया ने इस पर बहस भी शुरू कर दी है।  हेडलाइन लगाई है कि "क्या आरक्षण को ख़त्म करने का समय आ गया है?."

वैसे मुझे पूरी उम्मीद है कि आरक्षण अब ज्यादा दिन नही चलेगा। एसटी के युवाओं में अब फर्जी राष्ट्रवाद का इंजेक्शन लगाया जा चुका है। वो ज्यादा विरोध भी करेंगे। 

और जिस प्रकार अनुच्छेद 370 हटाने पर मीडिया यह कह रही है कि;

1.कश्मीर के लोगो को आजादी अब जाकर मिली है।
2.कश्मीर के लोग इसके हटने से खुशी में झूम रहे है। 

उसी प्रकार मीडिया यह कहेगी की;

1.एससी/एसटी को जातिवाद से अब जाकर आजादी मिली।।
2.जातिवाद के जड़ राजनैतिक आरक्षण की वजह से काफी जातिवाद झेलना पड़ा, अब जाकर उन्हें समाज मे बराबरी का हक मिला है। 
3.एससी एसटी के लोग आरक्षण हटने से खुशी में झूम रहे है।
4.दो चार फर्जी एससी/एसटी के लोगो को दिखा देगी जो कि जश्न मना रहे होंगे। 

आप देखते रहे ऐसा ही होगा और एससी एसटी के नौजवान "वाह वाह" कहेंगे।
Social Media News Resived
/>

This post have 0 Comments


EmoticonEmoticon

Next article Next Post
Previous article Previous Post

Advertisement