buri jakar wale tera muh kala.jpg

अगर किसी को नजर लग जाये, तो उसे कैसे ठीक करें |

एक समय था, जब लोगो को आसानी से नजर लग, जाता था, लेकिन आज कल विज्ञानं की बढती तकनीक के कारण, इस प्रकार की समस्या नहीं आती है |
लेकिन बच्चों और कुछ लोगो को नजर लग जाती है |

नजर लगना क्या है ?

हमारे शरीर में उर्जा होती है, जब हम किसी चीज को पूर्ण विश्वास के साथ कह देते है, तो वह शब्द उर्जा का रूप ले लेती है, और जिसके प्रति कह रहे होते है, उसे जाकर वही नजर लगना के रूप में लग जाती है |
जैसे आपने कहाँ, यह बच्चा रोता ही नहीं |
जब इस बात को आपने कहाँ तो आपके शरीर से वह उर्जा निकली और बच्चे तक पहुच गई, लेकिन मन में जो उस बच्चे के लिए भाव है, वही उर्जा है |
आपने कहाँ रोता नहीं लेकिन उर्जा ने समझा की, बच्चे को रोना चाहिए |
और बच्चा रोने लग जाता है |
यह तो हुई, नजर लगने की बात, अब जानते है |




नजर लगा हो तो उसे कैसे उतारे |

यहाँ पर समझने वाली बात है, उर्जा दो प्रकार की होती है,
एक सकारात्मक सत्य उर्जा, और दूसरा नकारात्मक गलत उर्जा |
बच्चे का रोना एक प्रकार से नकारात्मक उर्जा है, इसलिए इसे सत्य सकारात्मक उर्जा से इसे दूर कर सकते है, नजर लगे को हटा सकते है |
आपको क्या करना है, अपने हाँथ में पीने का जल लेना है, थोडा सा और तीन बार जय सतनाम कहना है, पुरे विश्वास के साथ, उसके बाद जिसको नजर लगा हो, उसके सिर के ऊपर में उस जल से छिट डाले, उससे बच्चे के ऊपर सकारात्मक सत्य सतनाम उर्जा, फ़ैल जाएगी | और वह बच्चा ठीक हो जायेगा |
उसके बाद उस बच्चे को नींद भी आ सकता है, सोने का मन कर रहा हो तो सुला देवे |
आपको मिर्ची वगैरह का प्रयोग नहीं करना चाहिए, यह बच्चे के आँखों को गलत प्रभाव डालता है | इस तरह से जल का प्रयोग करें |
आपको यह करके देखना चाहिए,
जो आप घर में पानी पीते है उसी जल का उपयोग करें, गंदे जल का उपयोग न करें |
|| जय सतनाम, जय सत्पुरुष गुरुघासीदास ||

0 टिप्पणियां