Jul 2, 2018

लोग शराब क्यों पीते है ? क्या है वास्तविक सच्चाई ?


Log sharab Kyo Pite hai Puri Sachchai by Yogendra Dhirhe
नमस्कार मेरा नाम योगेन्द्र कुमार है, 
आपने शराब के बारे से बहुत सारे जानकारी हासिल की होगी, लेकिन अगर आज आपने इस लेख को पड़ लिया तो वास्तव में लोगो के द्वारा शराब पीने के कारण को जरुर जान पाएंगे |
आपको मै अनेक तरीको से यह बतलाने का प्रयास करूँगा, यह लेख सर्च नहीं रिसर्च पर आधारित है;

शराब कौन से अवसर पर पीये जाते है ?

आज के समय में शराब को शादी, विवाह, पार्टी, जन्मोत्सव, सुख में, दुःख में हर अवसर पर पीये है |

शराब पीने की शुरुआत कहाँ से होती है ?

शराब की मानसिकता से शुरु होती है, बचपन से ही किसी न किसी को देखकर मन में कोई न कोई छवि बनी होती है,
तथा , हर चीजो को जानने की व्यक्ति के मन में जिज्ञाषा बनी होती है, जो पहली बार शराब पीते है, वह यही सोचते है, शराब सभी पीते है, उसमे क्या है, या किसी ने ऑफर किया तो उसमे पी लेते है, फ्री में मिल रहा होता है तो पी लेते है,
लोगो के मन में पहले से अनेक प्रकार की मानसिकता बनी होती है, शराब पीने से आदमी ताकतवर हो जाता है,
शराब पीने से झूट नहीं बोल पाता,
शराब पीने से मन में जो बात छिपी होती है, वह सामने वाले से बोल पाते है,
शराब पीने के बाद व्यक्ति मस्त बिंदास हो जाता है,
शराब पीने से मुड बन जाता है,
शराब पीने से टेंसन दूर हो जाता है,
और सबसे जायदा मानसिकता तो, तेरा गम अगर न होता तो शराब मै न पीता,
जिस तरह से अपने दोष दुसरे पर थोपे जा सकते है, ठीक उसी तरह से यह भी है, आप हर चीजो का क्रेडिट शराब को दे सकते है |

" जैसन संगत, वैसन रंगत "
यह एक कहावत है, अर्थात जैसे व्यक्ति के साथ दोस्ती करोगे, वैसे ही हो जाओगे |
लोग कहते है शराब पीने वाले व्यक्ति से जो दोस्ती रखेगा, वह भी शराबी हो जायेगा,
तो ठीक है यह कहानी भी पड़ लो,
हम तीन दोस्त है, हमने कभी शराब नहीं पीया,
उसके बाद तीन में से हम दो दोस्तों ने कहाँ की हम शराब पियेंगे, और पीने लगे, और वह दोस्तों अकेला, आज तक शराब न, गुटका, न किसी प्रकार की सिगरेट और कोई नशा नहीं किया,
अर्थात उसने पहले से मन बना लिया है, नशा नहीं करना है, चाहे जो हो जाये, कोई भी कहे, आर या पर हो जाये,

और मैंने भी कुछ दिन पहले शराब छोड़ दी, बस, बहुत हुआ रिसर्च,

लोग शराब क्यों पीते है ?

यह तो आप समझ गए होंगे, लेकिन एक बात और समझ लेवे वह यह, की; शराब पीने से पहले उसे नहीं पता होता है की शराब पीने के बाद क्या होता है |

क्या होता है शराब पीने के बाद ?

शराब पीने के बाद शराब दिमाग पर काबू कर लेता है, और पुरे तंत्र को ढीला कर देता है, बस और क्या, दिमाग न सोचने की अवस्था में होता है, और जायदा समझने की, दिमाग में जो पहले से है, बस उतना का ही उपयोग कर सकता होता है |
इसी बात को लोग समझ नहीं पाते और भक्कम शराब पीने लगते है,
गम में भी इसी तरह से, दिमाग काम नहीं करता तो, श्लो हो जाता है, तो पिया की याद कहाँ से आएगी,

दिमाग ढीला हो जाता है, तो मुड को क्यों नहीं बनेगा,
दिमाग पर जब काबू ही नहीं रहेगा, तो झूट कैसे बोलोगे,
दिमाग में जब एक ही चल रही आज मुझे ये कहना है, और दिमाग तो इसी को पकड़ा है छोड़ेगा, क्यों नहीं,

क्या शराब पीना गलत है ?


हाँ गलत है, क्योकि शराब पीने से समस्या का हल नहीं निकलता, इसलिए गलत है, जो समस्या से भागने लगते है, इसलिए है गलत,

अगर आप शराब पीते है तो एक प्रश्न आपसे है !
क्या आप इतने कमजोर, बेमुड, आदमी है, जो अपनी मुड को अपने से मस्त नहीं रख सकते |
मै तो मस्त मुड वाला हूँ, इसलिए मैंने छोड़ दिया, और आप
आज नहीं तो कब, लेख आपके लिए ही है |
Previous Post
Next Post

post written by:

0 Comments: