Jan 29, 2018

दलितों का उद्धार न होने का कारण क्या है,

Dalito Ke udhdhar n hone ka karan kyaa hai
सबसे पहले जानते है, दलितों और पिछड़े लोगो का शोषण क्यों होता था, हर व्यक्ति के जीवन में, परिवार में, हर गाँव में कोई न कोई प्रकार की दुःख समस्या जरुर है, यह जो समस्या की हम बात कर रहे है, वह हिन्दू धर्म से जुडी समस्या है, हिन्दू धर्म में अनेक देवी देवता है, हर प्रकार के धर्म में मोक्ष का बड़ा नियम है, हर व्यक्ति को मोक्ष प्राप्त करना अनिवार्य बताया गया है यह सत्य है,
लोग हमेशा से मानते आये है, की लोगो के दुखो को देवी देवता दूर करते है, और देवी देवता मंदिर में रहते है, और मंदिर में जाने के बाद वहां पर पुजारी होता है, सबसे बड़ी समस्या यही पुजारी है,
जो स्वंम से मंदिर में जाकर बैठ गया है, और देवता का भक्त होने का ढोंग करता रहता है, वास्तव में वह पुजारी देवता की सेवा न करके वहां पर चढ़ाये जा रहे, पैसे और धन की रक्षा के लिए वहां पर है,
इन पंडो ने लोगो के दिमाग के साथ खेल कर इनको भ्रम में डाल दिया है, और रंग रंग के देवी देवता की उत्पत्ति करके, लोगो के मन में डर को बैठा दिया है, इन्ही काल्पनिक देवता में से एक देवता शनि देवता है, मुझे आज तक कोई ऐसा व्यक्ति नहीं मिला जो ख़ुशी-खुशी इस देवता की पूजा करता हो, सभी डर से पूजा करते है,
और पूजा किस तरह से करते है, मंदिर में सरसों का तेल को चढाते है, और सरसों के तेल का दीपक जलाते है,
इन लोगो पंडो का ग्रुप होता है, कुछ लोग गाँव और शहर में घूम –घूम कर शनि और अन्य देवता के नाम पर लोगो को डराने का काम करते है, और कुछ इनके पंडित मंदिर में बैठकर लोगो को लुटने और ठगने का काम करते है, जब तक दलित और ग़रीब इस तरह के देवताओ पर यकीन करते रहेंगे तो इनका उद्धार कभी नही हो सकता,
मैंने तो आपके उद्धार न हो पाने का कारन बता दिया है, फिर कभी किसी को न कहना नहीं बताया |
Previous Post
Next Post

post written by:

0 Comments: