Dec 23, 2017

समुन्द्र का पानी सड़ता क्यों नहीं है ? Samundra ka pani sadta kyo nahi ?

Samundra ka pani sadta kyo nahi
Credit by Google Search image
हम सभी जानते है पृथ्वी में पानी का प्रतिशत सबसे जायदा है, हमारी धरती का सतह का तीन चौथाई सागरों की पानी से ढका हुआ है, इस सागरों के अन्दर अनेक जीव और जंतु निवास करते है, वास्तव में पृथ्वी में रहने वाले जीवों से जायदा समुन्दर के अन्दर रहने वाले जीव है, जब जीवों में किसी की मृत्यु हो जाती है, तो उनका दुर्गन्ध आने लगता है, सोचने वाली बात है की अनेक जीवों और पौधो के मरने के बाद भी समुन्द्र का पानी यथा संभव वैसा का वैसा रहता है, सड़ता नहीं |

आइये समझते है ऐसा क्यों होता है,
इसे समझने के लिए हम एक छोटे से गाँव का उदाहरण लेते है,
इस गाँव में एक गाली के कोने में ढेर सारे कूड़े करकट और गन्दगी को डाली जाती है, इसे गन्दगी नहीं कह सकते क्योकि इसमें का काफी हिस्सा अच्छे काम के लिए उपयोग में लिया जा सकता है, और कुछ जानवर और कबाड़ी वाले भी ले जाते है, और कुछ का खाद बनाया जाता है, और बांकी को कचरे घर में इकठा करके सुध्ध किया जाता है |
इसी तरह से सागर का पानी भी साफ रहता है,
सागर में अनेक प्रकार के जीव जंतु शाकाहारी मांसाहारी होते है, और अनेक प्रकार के अमीबा और बैकटीरिया जैसे जीव भी होते है, जो मरे हुए जानवर और पेड़ पौधों को खाकर साफ करते है, और सागर को साफ करते है, और कुछ ऐसी मछलिया भी होती है, जो सड़े हुए पत्ते को खाती है, इस विधि का उपयोग तालाब को साफ रखने के लिए किया जाता है,
कभी-कभी बचे हुए जानवर और गन्दगी को उच्च ज्वार के कारण समुन्दर के किनारे ला दिया जाता है, और जो दुर्गन्ध होती ही वह समुन्द्र की विशाल छेत्रफल में खो जाती है,
समुन्द्र का पानी खास करके इसलिए नहीं सड़ता क्योकि सडन के लिए पानी में ठहराव के बाद क्रिया होने के लिए समय चाहिए होता है, जो तालाब या जलासयो में ही संभव है, समुन्द्र में लगातार हलचल होती रहती है, इसलिए समुन्द्र का पानी सड़ता नहीं |
तो आप समझ गए होंगे की समुन्द्र का पानी कैसे साफ रहता है और सड़ता क्यों नहीं,
Previous Post
Next Post

post written by:

0 Comments: