Dec 29, 2017

भारतीय संविधान की विशेषताए - नौकरी की तैयारी के लिए जरुरी

भारतीय संविधान की विशेषताए

वैसे तो भारतीय में उल्लेखित विशेस्ताए है, इसके अतिरिक्त भी भारतीय संविधान के अनेक निम्नलिखित प्रमुख विशेषताए है :-
(1)    भारत के संविधान विश्व का सबसे बड़ा संविधान है
(2)    भारत के हांथो द्वारा लिखित संविधान है
(3)    भारतीय संविधान में लचीलापन एवं कठोरता का मिला जुला गुण मिलता है
(4)    भारतीय संविधान में संसदीय शासन व्यवस्था
(5)    संघीय शासन व्यवस्था
(6)    भारतीय संविधान में, संविधान की सर्वोच्चता – कार्यपालिका, न्यायपालिका से बड़ा
(7)    सवतंत्र न्यायपालिका
(8)    एकल न्यायपालिका
(9)    मौलिक अधिकार
(10)    मौलिक कर्तव्य
(11)    न्यायिक पुनविर्लोकन :- संसद द्वारा निर्मित कानूनों की समीक्षा व उसे अवैधानिक करार कर सकता है
(12)    जीवित आलेख
(13)    आपातकालीन उपबंध
(14)    विधि का शासन
(15)    शक्ति पृथककरण
(16)    समाज के पिछड़े वर्गो के लिए विशेष उपबंध
(17)    एकल नागरिकता (जम्मू व कश्मीर के अतिरिक्त )
(18)    नीति निर्देशक तत्व


भारतीय संविधान के निर्माण के समय के कुछ जरुरी जानकारी
  •     भारत का संविधान बनने में – 2 वर्ष, 11 माह, और 18 दिन लगे थे
  •     संविधान निर्माण में – लगभग 6.4 करोड़ रूपये खर्च हुए थे
  •     संविधान सभा की प्रथम बैठक – 09 दिसम्बर, सन 1946 को हुआ, इस सभा के (सच्चिदा नन्द सिन्हा) अस्थायी अध्यक्ष थे
  •     संविधान सभा की दृतीय बैठक – 11 दिसम्बर, 1946 को हुआ, इस सभा के (राजेंद्र प्रसाद ) स्थायी अध्यक्ष थे
  •     उद्देश्य प्रस्ताव का प्रस्तुतिकरण – 13 दिसम्बर , 1946
  •     पंडित जवाहरलाल नेहरू पारित 22 दिसम्बर 1946
  •     संविधान का निर्माण 3 वाचन में पूरा हुआ –
  •     संविधान सभा के (बेनेगल नरसिंह राव) संवैधानिक सलाहकार थे,
  •     संविधान सभा में डॉ. भीमराव आंबेडकर का निर्वाचन प. बंगाल से हुआ था |
वे इस प्रकार से है
पहला     -    04 नवम्बर    -    09 नवम्बर 1948
दूसरा     -    17 नवम्बर    -    15 ओक्टुबर 1949
तीसरा     -    14 नवम्बर     -    26 नवम्बर 1949
  •     प्रारूप समिति में कांग्रेस के एकमात्र सदस्य के.एम.मुंशी थे |
  •     संविधान सभा में हैदराबाद रियासत के प्रतिनिधियों ने भाग नहीं लिया |
  •     प्रारूप समिति में अपने योगदान के कारण ही, डॉ. भीमराव आंबेडकर को संविधान का पिता कहा जाता है
Previous Post
Next Post

post written by:

0 Comments: