Sep 29, 2017

सरपंच को कैसे हटाते है, जाने इसके नियम, सरपंच अविश्वास प्रस्ताव कैसे करें

Sarpanch ko Kab hataya ja sakta hai
ग्राम पंचायत के पद धारियों का हटाया जाना धारा 40
licence by- C.G.Panchayti Raj Adhiniyam 2016 new Adition
राज्य सरकार का भी  विहित प्राधिकारी,  ऐसी जांच करने के पश्चात जैसे वह उचित समझे, किसी पदधिकारी को, किसी भी समय हटा सकेगा इसका नियम कुछ इस तरह से है जो आगे हम विस्तार से आपको बता रहे हैं
यह पंचायती राज अधिनियम नया संस्करण 2016 से लिया गया है
जो इस तरह से  है(क) यदि वह अपने कर्तव्य के निर्वहन में अवचार का दोषी रहा है; या
(ख)  यदि उसका पद पर बना रहना लोकहित में अवांछनीय हैं, दे तब तक नहीं हटाया जाएगा जब तक कि उसे यह कारण बताओ का अवसर ना दे दिया गया हो, कि उसे उसके पद से क्यों हटा दिया जाए :
स्पष्टीकरण:-  इस उपधारा के प्रयोजन के लिए “ अवचार” के अंतर्गत है-
(क)    ऐसा कोई भी कार्य  जिसका
1.    भारत की प्रभुसत्ता, एकता और अखंडता पर, या
2.     राज्य के सभी लोगों में समरसता और समानता भ्रातित्व की ऐसी भावना के निर्णय पर जो धर्म, भाषा, क्षेत्र, जाति या वर्ग पर आधारित सभी भेदभाओ से परे हो,
3.    स्त्रियों के सम्मान पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है, या
(ख)    इस अधिनियम के अधीन कर्तव्यों के निर्वहन में घोर उपेक्षा ;
(ग)    पंचायत के किसी पद धारी द्वारा पंचायत में अपने किसी नातेदार के लिए नियोजन प्राप्त करने के लिए अपनी स्थिति या प्रभाव का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष प्रयोग करना या किसी नातेदार को आर्थिक फायदा पहुंचाने के लिए कोई कार्यवाही करना जैसे कि किसी प्रकार का कोई पता देना उन के माध्यम से पंचायत में किसी कार्य को करवाना |
    (परंतु जांच में अंतिम आदेश यथासंभव संबंधित पदधारी को कारण बताओ सूचना जारी होने की तारीख से 90 दिन के भीतर पारित कर दिया जाएगा )
 स्पष्टीकरण- इस खंड के प्रयोजन के लिए अभिव्यक्ति “ नातेदार”  से अभिप्रेत है,
जैसे पिता, माता, भाई, बहन, पति पत्नी पुत्र पुत्री सास-ससुर साला बहनोई देवर साली भाभी ननन देवरानी-जेठानी दामाद पुत्रवधू या अन्य |
(2)    कोई व्यक्ति, जिसे उपधारा (1) के अधीन हटा दिया गया है, तत्काल किसी ऐसी अन्य पंचायत का सदस्य नहीं रहेगा,  जिसका कि वह सदस्य है|  ऐसा व्यक्ति इस अधिनियम के अभिन्न निर्वाचन के लिए भी 6 वर्ष की काल अवधि के लिए निह्रित हो जाएगा |
Previous Post
Next Post

post written by:

0 Comments: