Feb 23, 2018

निंदक, क्या, क्यों, और कैसे, किसलिए
Nindak
मेरी एक स्वाभाविक सी आदत है, मै बातों बातों में प्रश्न पूछ लिया करता हूँ, यह प्रश्न मेरे लिए नहीं सामने वाले के लिए होता है,  आज बात करेंगे निंदा के बारे में निंदा क्या है,
समाज विचारक कबीर दास जी ने बताया है,
निंदक नियरे रखिए, आँगन कुटी छबाय |
बिन पानी साबुन बिना, निर्मल होत सुहाय ||

अर्थ :- अपनी बुराई करने वाले व्यक्ति को अपने पास जरुर रखना चाहिए, उसे अपने घर के पास कुटियाँ में रखना चाहिए, ऐसा इसलिए करना चाहिए, क्योकि निंदा करने वाले व्यक्ति हमारी बुराई को देखकर हमारी बुराई करता है, जिसे समझकर हम अपनी बुराई को सुधार सकते है | और बिना साबुन और पानी के साफ हो सकते है |

निंदा क्या है,

निंदा का अर्थ चुगली करना है, निंदा किसकी की जाती है,
निंदा उसकी की जाती है, जो कुछ गलत कर रहा हो, सत्य तो यह है, व्यक्ति अपने समझ के अनुसार समझता है, इसलिए कभी-कभी सही को भी गलत की तरह चुगली कर दी जाती है,  |

निंदा कैसे की जाती है,

किसी की गलती को सापेक्ष या बिना सापेक्ष के उसके कानों तक बात को पहुचायाँ जाता है, निंदा अनेक प्रकार के होते है, एक होता है प्रिय निंदा और दूसरा अप्रिय निंदा ,
प्रिय निंदा को प्यार से सापेक्ष होकर अकेले में, या अपनों के बीच बताया या एहसास कराया जाता है,
और होता है, अप्रिय निंदा,
यह निंदा एक प्रकार के दुश्मन द्वारा या उस व्यक्ति के द्वारा की जाती है, जो सापेक्ष में अर्थात आमने सामने में बात नहीं करना चाहता होता है, इस निंदा के द्वारा एक प्रकार के ठेस पहुचाने का काम भी किया जाता है |
लेकिन वास्तविकता तो वास्तविकता है, इसे उसे समझना चाहिए, जिसकी निंदा की जारी है,
निंदा एक प्रकार का वरदान है, तो दूसरी तरफ, कमजोरी भी,
अत्यधिक निंदा करने से निंदा करने वाले व्यक्ति में भी निंदा पन आ जाता है, जो ही एक खराबी है,
निंदा उस वक्त समाज और व्यक्ति के लिए घातक बन जाता है, जब समाज में गलती करने वाले व्यक्ति का समाज खुलकर बुराई नहीं करता |
आज के लिए इतना ही,
ज्ञान :- किसी दुसरे की बुराई करने से पहले, स्वंम भी बुराई के लिए तैयार होना चाहिए |

Feb 22, 2018

अधिकारी के कार्य को – नौकरी माने या दायित्व, विचार
Adhikari ka kary naukri ya dayitv
नौकरी अनेक प्रकार के होते है, आप इससे भली भाति परिचित होंगे, लेकिन आपको क्या अधिकारी के नौकरी के बारे में पता है, अधिकारी अपने छेत्र का सबसे बड़ा व्यक्ति होता है, अधिकारी बनना इतना आसन नहीं होता, सभी यही कहते है, या तो आप समझदार हो जाओ, या समय आपको समझदार बना देगा, लेकिन समय के अनुसार समझदार बनना समझौता हो, और पहले से तैयार होना समझदारी को प्राप्त करना |
क्या अधिकारी पहले से समझदार होते है, या समझदार बनने के लिए तैयार होते है, या समय के अनुसार समझदारी पर छोड़ देते है,
किसी का दायित्व अपने ऊपर लेना क्या आसन है, कदापि नहीं, क्योकि दुसरे का दायित्व लेने से पहले स्वंम का दायित्व लेना बहुत जरुरी है,
अब जो मै कहना चाह रहा हूँ, उसे अच्छे से आप समझे,
मान लेते है, मै तहसीलदार बनना चाहता था, पर बड़ी बात ये है मै क्यों बनना चाहता था, यह एक अधिकारी का पद और कार्य है, एक अधिकारी का कर्तव्य होता है, की अपने कार्य छेत्र में आने वाले सभी का हर समय धयान रखे, लेकिन उस व्यक्ति का क्या, जो सिर्फ अपने आप को समय सीमा में बांध रखा है, और उससे आगे बढ़कर कार्य नहीं करता, कार्य के समय सीमा के बाद भी कोई दायित्व होता है, जो हर समय साथ होता है, और यह उसी में हो सकता है, जो अपने आप को पूरी तरह से अपने कर्तव्य के लिए समर्पित कर दिया है, पता चला की रात में आक्सीडेंट हो गया है, तो क्या तहसीलदार को इसकी सूचना दी जाती है, हाँ बिलकुल पर क्या मौके पर तहसीलदार पहुचेगा, हाँ अगर मौके पर पहुचना जायज है, तो ठीक है, नहीं तो बाद में भी जाया जा सकता है, लोक प्रशासन में एक अधिकारी का दायित्व लोगो की सेवा ही प्रथम कर्तव्य है, इसे समय की सीमा में नहीं बांधा जा सकता, इन अधिकारियो की जिंतनी तारीफ की जाए, उतनी कम है |
अधिकारी बनने से पहले यह समझ लेना चाहिए, यह एक कर्तव्य है, जिसे हर समय निभाना होता है, इस कर्तव्य को जितना जल्दी समझ लिया जाए, अधिकारी बनना उतना आसन हो जायेगा |

Feb 21, 2018

मै जीवन में वास्तव में क्या करना चाहता हूँ ,मेरी कहानी मेरी जुबानी -योगेन्द्र कुमार धिरहे
Mai Wastav Me Kya Karna Chahta Hun
मैंने बचपन से ही एक सपना देखा था, मुझे ये बनना है, मै इसी सपने के साथ आगे बढ़ता चला, जब मै अपने मंजिल के करीब पहुचने वाला ही था, मुझे लगा यह करना मेरे लिए उचित नहीं, मुझे तो कुछ और ही करना है, मै फिर एक और मंजिल को लेकर आगे चलने लगा, मै अपने मंजिल के करीब पहुच गया, मुझे फिर से एहसास हुआ, यह मेरे लायक नहीं है, इसमें तो कुछ भी नहीं है मेरे लिए या मुझे लगा, की यह करना मेरे लिए उचित नहीं होगा, मै फिर उससे बड़े सपने को लेकर आगे बढ़ने लगा, मै फिर से अपने मंजिल के करीब पहुचने लगा, मुझे फिर एहसास हुआ, शायद मै ही इस बार गलत क्यों न हो, यह जो मेरा सपना था, वह बहुत बड़ा था, पर भी मुझे पता नहीं, मेरे लिए कम ही क्यों लगा, इस तरह से अपने सपने को चीरता हुआ, बहुत अचरज सोच के साथ, शांति से बहुत दिनों तक कई सालो तक उस चीज का इंतजार करने लगा, जहा पर पहुच कर मुझे न लगे की मैंने गलत किया है, मै हर दिन सोचने लगा, वह क्या है, जिसे मै वास्तम में प्राप्त करना चाहता हूँ, वह क्या है, जिसे मै बेहतर कर सकता हूँ, वह क्या है, जहाँ पर पहुचने के बाद मुझे पछतावा ना हो, वह क्या है, अंतिम में मैंने फिर से एक निर्णय लिया, की मुझे इस रास्ते में आगे बढ़ना है, मेरे मन में अक्सर यह प्रश्न चला आता है, क्या मैंने सही किया |
मैंने बहुत सारे सपने देखे, सभी को पीछे छोड़ता गया, एक के बाद एक क्या ये सही है, जो मैंने इनको पीछे छोड़ दिया, लेकिन मुझे दुःख नहीं होता, मगर क्यों,
शायद मुझे कुछ और ही करना था, जो मैंने पहले सपने देखे थे, वह उस समय की बात है, समय के साथ भी, हालत सोच, विचार, नियम बदलते रहते है, इसी तरह से, मुझे वास्तव में लगा, जो मै बनना चाहता था, वह तो कोई भी बन सकता है, बाद में मुझे एहसास हुआ, मुझे तो कोई और बुला रहा है, लेकिन मुझे ही क्यों, इस रास्ते में भी तो हजारो है, क्योकि मेरा दिल इसी के लिए धड़कता है, और मै इसी के लिए कुछ करना चाहता हूँ, बड़ी बात ये नहीं की मै ये बनना चाहता हूँ, मेरे अनुसार से बड़ी बात ये है, मै ये बनना क्यों चाहता हूँ, क्या वास्तव में मुझे ये बनना चाहिए | मुझे भी तो यही एहसास हुआ, मुझे ये नहीं बनना चाहिए, मैंने अपने सारे सपनो को पीछे छोड़ते हुए, उस रास्ते को पकड़ लिया, जिसे करने में मेरा मन हो |

Feb 17, 2018

अच्छा दिन कब आया था, या आएगा, कौन से तारीख में, और किस मुददे में, बेउकुफ़ बना रहा भाजपा सबको
ACHCHHE DIN KAB AAYENGE
कृपया पूरा पढ़े, मामला समझना भी तो है,
मै जिन्दा कैसे हूँ, लोगो के मन में यह प्रश्न न आता हो मगर मेरे मन में जरुर आता है, और बहुत जल्दी ही मुझे मेरे प्रश्नों का उत्तर भी दिखाई देने लगता है, मै जिन्दा इसलिए हूँ, क्योकि मुझमे जान है, और जान के लिए खाना खाता हूँ, और शरीर में आत्मा है, तो मै जिन्दा हूँ,
पर क्या वास्तव में यही सच्चाई है, मुझे नहीं लगता |
अगर इसी प्रश्न को उल्टा कर दिया जाए, मै मर क्यों नहीं रहा हूँ,
तो उत्तर इस तरह से होगा, क्योकि मै अभी जवान हूँ,
पर मुझे नहीं लगता यही सच्चाई है,
अगर कोई मुझसे कहे मै जिन्दा क्यों हूँ, तो मै कहूँगा,
क्योकि मै जीना चाहता हूँ, इसलिए मै जिन्दा हूँ,
मै मरा क्यों नहीं, क्योकि मुझे जीना है,
तो अंतिम में हम यही पहुच जाते है, हम जीना क्यों चाहते है,
क्योकि जीवन को जीना है, कुछ है जिसे पूरा करना है, जो है नहीं उसे प्राप्त करना है, पर मेरे प्रश्न है,
अगर कुछ पाने के लिए जिन्दा है, या जीवन को जीने के लिए तो जीवन का समझ भी होना चाहिए |
जब मुझसे कोई कुछ वादा करने के लिए कहता है, तो मै क्यों नहीं करता, इसका उत्तर मै इस तरह से देता हूँ,
“क्या आप वादा कर सकते हो, कल तक आप जिन्दा रहोगे, मरे नहीं रहोगे”
है, उत्तर हाँ में, बिलकुल भी नहीं, क्योकि जीवन का कोई भरोसा नहीं,
अगर इसी को कहे, कल सूर्य उगेगा, तो हर कोई कहेगा उगेगा, पर क्यों कहेगा, क्योकि सूर्य रोज उगता है, और सूर्य पर और अपनी जानकारी पर सबको उम्मीद है |

कोई आत्मा हत्या क्यों कर लेता है,

बात करने के लिए तो यह बहुत बड़ा मुद्दा है, पर मेरा मुद्दा कुछ और है, व्यक्ति उस समय आत्मा हत्या कर लेता है, जब उसकी उम्मीद टूट जाती है, और उसे लगता है, मेरा जीवन व्यर्थ है,

तो मै जिन्दा क्यों हूँ,

यक़ीनन मुझे उम्मीद है, कुछ करने की, कुछ प्राप्त करने की इसलिए जिन्दा हूँ,
सभी व्यक्ति इस उम्मीद से जिन्दा होते है,
और यह उम्मीद लेकर हर व्यक्ति जी रहा होता है, अगर स्तिथि ख़राब है, तो अच्छा होने के उम्मीद, क्या सरकार भी आपके इसी उम्मीद का फ़ायदा उठा रही है,
अगर हर बार अच्छा दिन करते रहेंगे, तो ख़राब दिन कब था |
क्या आ गया है अच्छा दिन, दिन तो वही रहेंगे, बस सोच का परिवर्तन बांकी है, अच्छे दिन अपने आप आ जायेंगे, जो कहे अच्छा दिन उससे पूछा कौन से तारीख को, किस मुददे में अच्छे दिन आयेंगे |
अगर उत्तर नहीं है, तो सभी अच्छे दिन का हवाला देकर बेउकुफ़ बनाता रहेगा, | और सभी की जीने की उम्मीद से खेलता रहेगा |

Feb 13, 2018

प्रधान मंत्री आवास योजना में अपना नाम है या नहीं यह खोजे- ग्रामीण छेत्रो के लिए
प्रधान मंत्री आवास योजना में नाम है की नहीं इससे पहले आप यह जान ले, प्रधान मंत्री आवास योजना क्या है, जो गरीब स्वंम से आवास नहीं बना सकते, जो ग़रीबी रेखा के नीचे जाते, उनको आवास देने के लिए प्रधान मंत्री आवास योजना शुरु की गई, प्रधान मंत्री आवास योजना का नाम पहले इंदिरा आवास योजना था, जिसे नाम परिवर्तन करके पी एम आवास योजना रखा गया है,
pmay-gramin-chhetra

प्रधान मंत्री आवास योजना का लाभ किन परिवारों को मिल पाता है,

प्रधान मंत्री आवास योजना का लाभ उन लोगो को मिल पाता है, जिन लोगो का नाम 2011 की सर्वे सूचि में गरीब पाया गया है, और इसी के अनुसार गाँव में लिस्ट तैयार किया गया है,
प्रधान मंत्री आवास योजना का लाभ उन लोगो को मिल पाता है, जिन लोगो का नाम ग़रीबी रेखा के नीचे आता है, और जिनका नाम BPL राशन कार्ड की सूचि में आता है,
वर्तमान में भारत में कुछ राज्यों में यह योजना चल रहा है, लेकिन राज्यों में भी अलग-अलग छेत्रो में अलग- अलग राशी की योजना चल रही है,
अभी के समय में सामान्य छेत्रो में कुल मिलाकर 1.35 लाख, एक लाख पैतीस हजार मिलता है,
पहला क़िस्त 48 हजार, दूसरा लेंटर के लिए 48 हजार तीसरा, 25 हजार पलस्तर और रंगाई के लिए और 90 हाजरी बनाने वाले मजदूरों के लिए,

प्रधान मंत्री आवास योजना में नाम है की नहीं ऐसे देखे,

आपको यह विस्तार से बताने की कोसिस कर रहा हूँ, आप अच्छे से करते जायेंगे,
सबसे पहले आप इस नीचे की लिंक में क्लिक करे,

http://rhreporting.nic.in/netiay/PhysicalProgressReport/physicalprogressreport.aspx

यह पेज ओपन होगा, उसके बाद Selection Filters के नीचे,
PMAYG Cumulative Progress, को सेलेक्ट करना है,
फिर नीचे में,
फिर अपने स्टेट को सेलेक्ट करना है,
उसके बाद जिला को सेलेक्ट करना है,
फिर जनपद को सेलेक्ट करना है,
फिर ग्राम पंचायत और उसके बाद गाँव को सेलेक्ट करना है,
उसके बाद SUBMIT में क्लिक करना है,
आपको गाँव के सभी व्यक्ति के नाम मिल जायेंगे, लेकिन जिन लोगो का नाम आवास देने के लिए बांकी है, उनको इस लिस्ट में बांकी हो सकता है,
अगर आपका नाम इस लिस्ट में नहीं है तो कृपया इसकी जानकारी के लिए अपने पंचायत सचिव से मिले |

Feb 10, 2018

महात्मा गाँधी रास्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में आपका मजदूरी नहीं मिला तो इस तरह पाए पैसे |
अब लोगों को अपनी सोच को भी बदलने का समय आ गया है, अब कहने से नहीं होगा, की ऊपर वाला देख रहा है, ओ सूरज देख रखा है, ओ चाँद देख रहा है, ये अग्नि साक्ष है, ये सभी एक बच्चे को रोते हुए से मनाने के लिए अच्छी लगती है, मगर किसी समजदार को अपनी हक़ की लड़ाई से लड़ने के समय ऐसा नहीं कहना चाहिए |
मुझे दुःख होता है, जब मै रोजगार गारंटी योजना में मजदूरी का मुआयना करने के लिए जाता हूँ, और मजदुर
फिर दुसरे पल कहते है, ऊपर वाला देख रहा है, ओ सूरज देख रहा है, ओ हिसाब करेगा, और उस व्यक्ति को कोसने लगते है, जिसने उसके पैसे खाए, और कोसते हुए उस व्यक्ति के बनाये घर और नुकसान पर खुशी जाहिर करते और दुखी होते है |
दिक्कत यह नहीं है, दिक्कत तो यह है, मेरे अनुसार अपने हक़ को लेना अपना अधिकार होता है, फिर यह लोग अपने हक़ की कमाई को कैसे लूटा देते है,
मेरे अनुसार से इसका उत्तर देना चाहूँगा की, असमझदारी ही इसका कारण है, ग्राम पंचायत से अपने कमाई का हिसाब न मांगना, और हिसाब नहीं मिलने पर शिकायत न करना |
समस्या तो यही पर आती है, लोग शिकायत के नाम से मन में अलग धारणा बना कर रहते है,
कोट कचहरी के और थाना के चक्कर में न पड़ना,
चाहे नुकसान हो, रोते रोते सह लेना |
सच तो यह है ऐसा कुछ नहीं होता है,
शिकायत करें तो करे किस्से और कैसे,
आप पैसे की शिकायत जनपद पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी या प्रोग्रामर (पीओ) या कलेक्टर से सीधे या, जिला पंचायत मुख्य अधिकारी से कर सकते है,
आप यह कलम से लिखित या कंप्यूटर से टाइप करवा सकते है, काम कब से कब तक कितने दिन, कौन कौन मिलकर, कार्य का नाम और हो सके तो कार्य स्थल में बोर्ड बना होता है, उसका फोटो खीचकर शिकायत करें | और अपना जॉब कार्ड फोटो कॉपी,
अगर रोजगार गारंटी योजना से सम्बंधित कोई समस्या है, या आपका पैसा नहीं मिला तो नीचे कमेंट करे, आपकी समस्या को हल करने का प्रयास पूरा किया जायेगा |
           संपादक
इन हिन्दी इंडिया न्यूज़
कहते है, मैंने पीछे कई सालो के मजदूरी भुगतान नहीं मिला है,
मालखरौदा में नए ग्राम रोजगार सहायको की ट्रेनिंग बांकी, दिक्कत हो रही रोजगार सहायको को

Gram Rojgar Sahayak
मालखरौदा जनपद पंचायत के अंतर्गत कुल 76 ग्राम पंचायत आते है, फ़रवरी 2017 में 27 ग्राम पंचायत के लिए ग्राम रोजगार सहायक की भर्ती की गई है, फ़रवरी 2017 के और बहुत सारे ग्राम पंचायत में ग्राम रोजगार सहायक की भर्ती की गई है, अब साल हो गए है,
रोजगार गारंटी के अंतर्गत कार्य करवाने का दायित्व ग्राम पंचायत को सौपा जाता है, ग्राम पंचायत में सरपंच, सचिव, पंच, और ग्राम रोजगार सहायक होते है, जो ग्राम पंचायत और रोजगार के कार्यो को देखते है,
भारत और राज्य सरकार में सबसे बड़ा कार्य रोजगार गारंटी का होता है, और रोजगार के कार्यो को सुचारू रूप से चलाने का दायित्व सरपंच, सचिव और खास करके ग्राम रोजगार सहायक का होता है,
रोजगार गारंटी के अंतर्गत उन्ही कार्यो को कराया जाता है जो रोजगार मूलक हो, जिससे लोगो को रोजगार मिल सके |
इन कार्यो के अंतर्गत सड़क निर्माण, नाली, तालाब, कुंवा, डबरी, जलाशय, और बहुत सारे कार्य कराये जाते है,
किसी भी कार्य को कराने से पहले, उस कार्य की जानकारी जनपद को दी जाती है, और जनपद उस कार्य को ऊपर जिला में भेजते है,
उसके बाद उस कार्य का बजट निकाला जाता है, मटेरियल का और मजदूरी भुगतान का, जिससे कार्य कराना होता है,
मान लीजिए, डबल्यू बी एम सड़क निर्माण, जिसमे मिटटी से सड़क और सड़क के ऊपर मुरुम, बोल्डर पत्तर, और पानी, रोलर से कार्य करवाना होता है,
ग्राम पंचायत द्वारा कार्य की स्वीकृति कराई जाती है, उसके बाद ग्राम पंचायत की सभा आयोजित की जाती है, कार्य के बारे में सबको जानकारी दी जाती है,
जो मजदुर जॉब कार्ड धारी कार्य करना चाहते होते है, वह कार्य के लिए मांग करता है, इसकी सुचना मुनियादी द्वारा सभी को दी जाती है और उसका नाम मांग पत्र में ग्राम रोजगार सहायक भरता है,
और जनपद पंचायत में मांग पत्र को जमा किया जाता है, कुछ दिन बाद मांग के लोगो का लिस्ट निकला जाता है, जिसे मस्टर रोल कहते है, इसमें वही नाम होते है, जिन लोगो ने काम के लिए आवेदन दिए होते है |
मस्टर रोल में उन लोगो का मजदूरी भरा जाता है, जो लोग काम करते है,
इन सभी कार्यो को ग्राम रोजगार सहायक के द्वारा किया जाता है,
कार्य शुरु होने से पहले एक बोर्ड बनाया जाता है, फिर इंजिनियर आकर कार्य का डाकबेलिंग करवाता है, और किस तरह से कार्य होना है, इसके बारे में जानकारी देता है, और लगातार निरिक्षण करता रहता है |
Janpad Panchayat Malkharoda
मालखरौदा ब्लाक छत्तीसगढ़ का सबसे पिछड़ा हुआ, ब्लाक माना जाता है, मालखरौदा में आपको ऐसे-ऐसे ग्राम रोजगार सहायक मिल जायेंगे, जिनको गोदी (गढ्ढा ) कैसे नापना है, यह भी मालूम नहीं, मेट पंजी क्या होता है, इसकी किसी को जानकारी नहीं, डाकबेलिंग सब्द को पह्ली बार सुनते है, कार्य के दौरान मजदूरों का उपस्तिथि कैसे भरनी है, मस्टर रोल में मजदुर का हस्ताक्षर बीच के दिनों में या अंतिम के दिनों में भरना है इसकी भी जानकारी नहीं,  गोदी कार्य के दौरान मस्टर रोल में उपस्तिथि रोज भरना है, या गोदी नाप के बाद इसकी भी जानकारी नहीं, रोजगार गारंटी कार्य के दौरान बच्चों के लिए क्या सुविधा होती है, चोट लगने पर उपचार के लिए सुविधा कैसी हो, पीने के लिए, तथा आराम करने के लिए व्यवस्था का प्रबंध कैसे करना है, कोन कराएगा, डाकबेलिंग कैसे करनी है,
हद तो तब हो जाती है, जब गोदी का कीमत कोई बता नहीं पता, और न हाजरी का, हर ग्राम पंचायत में अलग-अलग तरीके से गोदी नापी जाती है, जिससे मजदूरो को काफी नुकसान उठाना पड़ है, कार्य के दौरान जाब कार्ड में मजदूरों का नाम और अन्य कैसे भरना है , इस तरीके से रोजगार गारंटी का हाल है,
ग्राम पंचायत का गठन इसी उद्देश्य के साथ हुआ था, लोग गलती-गलती कर करके सीखे,
जनपद पंचायत मालखरौदा को सोचना चाहिए, किसी भी ग्राम रोजगार सहायको के ऊपर किये गए शिकायतो पर,
क्या इन नए ग्राम रोजगार सहायको, को जनपद पंचायत के द्वारा किसी प्रकार की ट्रेनिंग दी गई है, अगर नहीं दी गई है तो ग्राम रोजगार सहायको के द्वारा गलती होना स्वाभाविक है, और इसमें जनपद भी दोषी माना जायेगा |
ग्राम रोजगार सहायक कम वेतन मिलने के बाद भी हर हफ्ते अपने खर्चे से मीटिंग, खुद का मोबाइल और जनपद के द्वारा दी जाने वाली जानकारी को देखने के लिए खुद का इन्टरनेट में हजारो रूपये खर्च हो जाते है |
जनपद पंचायत मालखरौदा से मांग करते है, की ग्राम रोजगार सहायको को जल्द- से जल्द रोजगार गारंटी की ट्रेनिंग दिलाने का समय निकाले, ताकि मालखरौदा का भी विकास हो, और मुख्य कार्यपालन अधिकारी से निवेदन करते है, इस लेख पर शांति से विचार करें |
धन्यवाद् ,
                            संपादक एवं विचारक
                                योगेन्द्र धिरहे
                        www.inhindiindia.in news
आप नीचे व्हाट्सएप्प se अपनों को भेज सकते है यह 

Feb 7, 2018

Aadhar Card Lock Unlock Kaise Kare ? आधार कार्ड लॉक या अनलॉक कैसे करते है ? फ़ायदे और नुकसान
आधार Biometrik Lock या Lock हुए को Unlock कैसे कैसे करें,
किसी का आधार Biometrik में Error क्यों दिखा रहा है, इसका क्या कारन है,
(आपको सबसे नीचे में लॉक अनलॉक को बताया गया है )
आज हम इसी के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे |  अगर आप आधार धारक है, तो आपको यह जरुर पड कर जानना चाहिए |

Aadhar Card Lock Unlock Kaise Kare ? आधार कार्ड लॉक या अनलॉक कैसे करते है ? फ़ायदे और नुकसान

नमस्कार दोस्तों योगेन्द्र धिरहे की इस वेबसाइट Www.inhindiindia.in में आप सभी का हार्दिक स्वागत है | तो आइये शुरु करते है |
आधार कार्ड क्या है अगर आप नहीं जानते तो यह पढ़े :-

 
आधार कार्ड किसी भी व्यक्ति का बहुत महत्वपूर्ण और जरुरी पहचान पत्र है, भारत देश में अभी इससे बड़ा पहचान पत्र नहीं है, आधार कार्ड जब बनता ह, तो उसमे दोनों हांथो की 10 (दसों) उंगलिया, और दोनों आँखों की रेखाओ और रेटिना का चित्र लिया जाता है, और उसके बाद आधार में पूरा पता जन्म दिनांक और भी जानकारी दर्ज होती है,

आधार से क्या-क्या कर सकते है |

आधार फिंगर के माध्यम से जिस बैंक में आधार लिंक है उससे पैसे निकाल सकते है, आधार से किसी प्रकार की सहकारी और गैर सहकारी में फिंगर से सामान खरीद सकते है, और सभी प्रकार की प्रमाण पत्र बनवा सकते है, |
आज के आधुनिक समय में ऐसे –ऐसे मशीन आ गए है, जिसमे आधार की सभी जानकारी को एकत्र कर लिया जाता है, और यह चोर करते है,
और जब पैसे चोरी करने होते है, तो आपके बिना फिंगर दबाये भी वह उस मशीन सॉफ्टवेयर के माध्यम से आपके पैसे चोरी कर लेते है, इससे बचने के लिए आधार में ऑनलाइन सिस्टम जोड़ा गया है, जिसके माध्यम से आधारफिंगर को लॉक किया जा सकता है, और फिर से स्वयं लॉक को हटा सकते है,
आधार को लॉक या अनलॉक कैसे किया जाता है |
आधार की वेबसाइट में लॉग इन करना होगा उसके बाद, आधार डालने के बाद मोबाइल में ओ टी पी जायेगा उसे डालने के अनलॉक या लॉक हो जायेगा |

आधार लॉक के फायदे

आपका आधार से कोई भी कुछ पैसे और कुछ काम नहीं कर सकता आप पूरी तरह से सुरक्षित रहेंगे |

आधार लॉक के दुस्परिणाम

1.    एक बार आधार लॉक करने के बाद आधार कार्ड में फिर से अनलॉक करने के लिए उसी मोबाइल नंबर में OTP जायेगा |
2.    ओ टी पी डालने के बाद भी onLock कर पाओगे |
3.    कभी-कभी 10 बार करने पर भी ओटीपी नहीं आ पाता मोबाइल में |
4.    इन्टरनेट स्लो होने पर सर्वर एरर 50 बार करने पर भी आता है |
5.    एक बार लॉक करने के बाद सिर्फ 10 मिनट के लिए ही अनलॉक हो पाता है |
6.    अनलॉक करने के 10 मिनट बाद स्वतः लॉक हो जाता है |
7.    ईमेल में ओ टी पी नहीं जाता है |
8.    ऑनलोक करने के लिए फुल इन्टरनेट जरुरी है |
9.    और इन्टरनेट स्लो होगा तो, अनलॉक नहीं होगा,
10.    अनलॉक करने के लिए आपके पास आधार में रजिस्टर मोबाइल सिम चालू हालत में होना अनिवार्य है |
11.    मोबाइल नंबर को ऑनलाइन बदल नहीं सकते |
12.    नंबर गुम होने पर आप फिंगर से कोई भी लेन देन नहीं कर पाएंगे |
13.    आप हमेशा मुसीबत में रोते रहेंगे और कोई आपको सुनने वाला नहीं मिलेगा |
14.    कस्टर केयर से बात करने आप कहेंगे, आपको लॉक करने के लिए मैंने नहीं कहा था |
15.    मोबाइल नंबर गुम हो जाने पर आधार सेंटर जाना अनिवार्य है |
16.    मोबाइल नंबर बदलने के लिए आपको रिश्वत और आने जाने का खर्चा मिलाकर 500 से अधिक लगेगे, जो पहले फ्री घर हो जाता था |
17.    मोबाइल नंबर कब अपडेट होगा, उसकी कोई गारंटी नहीं |
18.    अनलॉक करने के लिए कंप्यूटर लैपटॉप या खुद का मोबाइल अनिवार्य है, क्योकि ये टेंशन का काम और कोई नहीं कर सकता |
19.    आपको इन्टरनेट चलाना आना अनिवार्य है, और इन्टरनेट के लिए पैसे लगते है |
20.    जिसका आधार लॉक होगा वह बुरी तरह परेशान आदमी होगा |

किसी भी व्यक्ति का आधार लॉक हो गया है कैसे समझे

Biometric मशीन में फिंगर या रेटिना स्कैन लेने पर Error में 330 दिखाई देगा यह याद रखे, तो समझ लेवे की आधार लॉक है उसे अनलॉक करना होगा |
आधार कार्ड कभी स्वत लॉक हो जाता है, जब आधार में बार-बार स्कैन करने पर नहीं आता तो आधार को लगता है कोई और व्यक्ति चोरी करने की कोसिस कर रहा है |  जिस व्यक्ति के आधार में मोबाइल रजिस्टर नहीं होगा उसे सबसे पहले आधार सेन्टर जाकर मोबाइल अपडेट करवाना होगा , और ओ भी मोबाइल स्वयं का होना चाहिए या घर का ही करावे |

अब आप जाने आधार को लॉक या अनलॉक कैसे करते है ?

इससे पहले मेरी सलाह गरीब लॉक न करे, वह व्यक्ति ही करें जो टेंशन लेने को तैयार हो, और जिसे लगता है, मेरा आधार लॉक होना जरुरी है, और मै अनलॉक कर सकता हूँ | नहीं तो पछताने के सिवा कुछ नहीं होगा, आपको इतने समय तक पड़ते रहने के लिए माफ़ी मागता हूँ क्योकि यह जरुरी था |
स्टेप 1.
सबसे पहले आधार की वेबसाइट ओपन कर ले,
https://uidai.gov.in

या सीधे लिंक में जाने के लिए नीचे का लिंक ओपन करें |
https://resident.uidai.gov.in/web/resident/biometric-lock
स्टेप 2.
आपको Aadhaar Service के नीचे लिखा हुआ नज़र आएगा, Lock/Unlock Biometrics उस पर क्लिक करके ओपन करें |

Lock unlock biometrik

स्टेप 3.
अपना 12 अंको का आधार नंबर डालना है और और चित्र में लिखा हुआ कैप्चा डालना है,

Sent OTP में क्लिक करना है |
Enter Aadhar Number And Enter Security Code

स्टेप 4.
आधार में रजिस्टर मोबाइल में OTP जायेगा उसे
Enter OTP के सामने वाले बॉक्स में डाले और लॉग इन करें |
(कभी –कभी इस तरह से आये तो समझ ले आपका सर्वर फ़ैल है, या मोबाइल टावर नहीं है, या अभी नहीं होगा )

Your request cannot be processed now due to sone technical issue. Please try agam later.

स्टेप 5.
सिक्यूरिटी कोड को डाले बॉक्स में,
और नीचे दो आप्शन दिया होगा , Unlock aur Disable

Aadhar Lock Unlock Disable

UnLock :- आधार लॉक को खोलने के लिए Unlock को दबाये,
आपके सामने इस तरह का लिखा नज़र आएगा |

aadhar is unlocked

(याद रखे आपका आधार सिर्फ 10 मिनट के लिए अनलॉक होगा, उसके बाद फिर से लॉक हो जायेगा )
Disable:- और आधार को लॉक करने के लिए Disable दबाये |
आपके सामने इस तरह का लिखा नज़र आएगा |

aadhar is locked

अगर आपका कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट कर सकते है, 

और अपने दोस्तों के व्हाट्स अप्प और facebook में शेयर करना ना भूले,
आपको शाबासी देंगे ,
यह भी पढ़े :-
How To Cheak Aadhaar Card Status online