Oct 22, 2018

WhatsApp Ko Hindi Bhasha Me Kaise Chala Sakte Hai ?
WhatsApp Ko Hindi Bhasha Me Kaise Chala Sakte Hai ?

WhatsApp Ko Hindi Me Kaise Chalaye ?

Hello Dosto Aaj Aapko Batane Wala Hun Ki Whatsapp Ko Apne Pasand Ke Language ( Bhasa ) Hindi, English, Gujrati, Panjabi, Marathi, Bangla, Telgu, Kisi Bhi Bhasa Me Kaise Set Kar Sakte hai ?
Agar Aap Janna Chahte Hai to is Post Ko Kuchh Samay Tak Dhayan se Pahde Aap Jarur Jan Payenge Aur Kabhi Bhi Bhul Nahi Payenge |

Yah Bhi Jane >> FaceBook ID Kaise Banaye ?

Whatsapp Ko Aur Bhasha Me Kyo Set Karte Hai ?

whatsapp me indian Language me bahut sari bhasa hoti hai, Lekin Default Me English set Rahti Hai Jise Ham Apne Pasand Ke Anusar Set Kar Sakte Hai |

Whatsapp Kya Hai ?

whatsapp ek Social Share Aap Hai, Jis Par Sandesh Ko Bhejne aur lene ka kam Kiya Jaya Hai |
Whatsapp me Ham, Kya-Kya Sent Kar Sakte hai ?
Whatsapp Kya Hai ? me Image, Text, Video, File, Zip, Audio, Symbol, Aur Bhi Bahut sare Bhej Sakte hai |

WhatsApp Ko Aur Language Me Kaise Set Kare ?

Aapko Step By Step bata Raha hun Taki Aap Achche se samajh Jaye
Step 1 >> Sabse Pahle Aapko WhatsApp Ko Open Karna Hai |
Step 2 >> Aapko Home Page Me Jana Hai |
Step 3 >> Aapko Ringh Side Upar me Three Bindu Dikhai Denge, Jise Menu Bar Kahte Hai Us Par Click Karna Hai |
Step 4 >> Ab Aap Settings Me Jana Hai |
Step 5 >> Aap Aapko Chats Me Click Karna Hai |
Step 6 >> Aap Aapko Sabse Upar Aap Language Dikhai dega Us Par Click Karna Hai |
Step 7 >> Ab Aapko Apne Pasand ke Language me Click karna hai Jise App Whatsapp Me set Karna Chahte Hai |

Bas Aur Kya Aapka Whatsapp apne pasand ke Language me set ho gaya |
Agar fir se badalna chahte hai to aapko isi tarag se Jana Hai ,
Menu Bar >> Settings >> Chats >> Aap Language >> Choose Your Language,
Kisi Prakar Ki aur Jankari ke liye Comment Karen |
Agar aapko Pasand aaya ho Aur Dosto Ke sath Share Karen,

Oct 21, 2018

मेरा आखरी प्रश्न ? क्या हमारे शरीर में आत्मा होती है ?
mera aakhri prashna sarvjan ke liye yogendra dhirhe

मेरा आखरी प्रश्न ? क्या हमारे शरीर में आत्मा होती है ?

कितना यह अजीब प्रश्न है और ओ भी आखरी प्रश्न , मगर सोचने वाली बात है,
अगर इस प्रश्न का उत्तर खोजने निकलू तो, मुझे अनेको उत्तर मिलेंगे,
कोई कहेगा, आत्मा नहीं होता |
कोई कहेगा होता है |
चलो अगर नहीं होता मान लिया तो भुत कहाँ से आये, और देवी देवता की पूजा क्यों की जाती है |
अगर मान लेते है आत्मा है, तो भुत को भी मानना होगा, और परमात्मा अर्थात आत्मा का मालिक को भी मानना होगा |
लेकिन गौतम बुध्द तो कुछ और ही कहता है |
क्या कहता है इसे सुनो |
तुम आत्मा को क्यों खोज रहे है,
तुम भुत को क्यों खोज रहे हो,
तुम परमात्मा को क्यों खोज रहे हो ,
तुम्हे इस सभी को क्यों जानना है,
क्या आत्मा और परमात्मा को देखा जा सकता है,
क्या आत्मा और परमात्मा को बुध्दि से जाना जा सकता है,
अगर ऐसा होता तो सभी देख रहे होते है आज |
समझने वाली बात तो यह है की यह सभी बाते तुम्हारे लिए फालतू है |
क्योकि !
क्या मिलेगा तुम्हे आत्मा और परमात्मा को जान कर,
सभी यही तो कर रहे है, देखो कौन बचा है |
अगर आत्मा और परमात्मा को जानने से समझने से तुम्हारी गरीबी और दुःख, अशिक्षा दूर हो जायेंगे तो, तुम बिना पढ़े, बिना समझे शिक्षित हो जाओगे,
तब तो सही है, नहीं तो किसी काम का नहीं इसे समझो |
तुम्हे इन सभी चीजो से दूर जाना है,
जो तुम्हे उलझा कर रखती है,
आपको बेहतर जिंदगी की ओर आगे बढ़ना है,
इन चौरासी फासा में उलझने की तुम्हे जरुरत नहीं है,
अगर सोच रहे हो की इन चौरासी फासा में फसे हुए व्यक्ति के जाल को काटूँगा, तो सही सोच रहे हो, लेकिन कार्य करने का जो तरीका है,
वह गलत हो सकता है,
जो जाल में फसे है उन्हें क्यों छुड़ा रहे हो, पहले जो फस रहे है उन्हें तो रोको |
बच्चों को  तुम्हे उत्तर स्वंम मिल जायेगा |
फेस बुक खाता खोले, Naya Facebook Account Banaye How to create new facebook Account
फेसबुक क्या है,
फेसबुक एक सामाजिक सेवा वेबसाइट है, जिस पर लोग अपना अकाउंट बनाते है,
और बहुत सारे फेसबुक, ग्रुप, पेज से और मित्रो से जुड़ते है,
facebook में यूआरएल को लिंक किया जा सकता है,
फोटो को डाला जा सकता है,
विडिओ को डाला जा सकता है,
ऑडियो और बहुत कुछ को डाला जा सकता है,
और उसे एक दुसरे को शेयर कर सकते होते है और कमेंट भी कर सकते है,
आज के समय हर कोई का facebook खाता है,
चाहे वह किसी व्यक्ति का हो, किसी संगठन जैसे
स्कूल कालेज, कोई कंपनी या कोई समाज |
तो आप आप जाने की कैसे अपना facebook खाता खोल सकते है,
इसके लिए कोई कोर्स करने की कोई जरुरत नहीं है,
धीरे धीरे आप सब सिख जायेंगे |

खाता बनाने के लिए,




नीचे लिंक को ओपन करें
www.facebook.com
facebook create account

Frist Name लिखे उसके जगह में इसी तरह से
SurName,
Mobile Number Ya Email ID
डाले,
अपना जन्म दिनांक डाले,
आप महिला है या पुरुष या सेलेक्ट करे,
और Create Account में क्लिक करे,
आपने जो मोबाइल या ईमेल डाला है उसमे OTP पासवर्ड जायेगा उसे डाले आपका
facebook खाता तैयार है, आप अपना फोटो और प्रोफाइल को सेट कर लेवे, |

Oct 15, 2018

पैन कार्ड बना है या नहीं रसीद या बिना रसीद के चेक करे Cheak PAN Card Status
नमस्कार दोस्तों योगेन्द्र धिरहे की तरफ से आपका हार्दिक स्वागत है,
क्या आप जानना चाहते है की पैन कार्ड बना है या नहीं यह कैसे चेअक
करे, तो यह वेबसाइट आपके लिए है
pan card cheak status
किसी भी व्यक्ति का बिना कोई रसीद के
या रसीद है तो आपको यह करना होगा, आप इसकी मदद से किसी भी व्यक्ति का पैन कार्ड नंबर जान सकते है
वर्तमान में पैन कार्ड का स्टेटस चेअक करने के लिए दो वेबसाइट बताया जा रहा है
उसे देखे
जब पैन कार्ड बनाया जाता है, वह दो वेबसाइट से बनाया जाता है

1. एन एस डी एल NSDL

2. यु टी आई UTIITSL




से
अगर आप रसीद से चेअक करना चाहते है तो आपको देखना है की आपने किस वेबसाइट में अप्लाई किया है,
स्टेप 1
आपको निचे लिखे NSDL में क्लिक करना है,
स्टेप 2
Select में क्लीक करे और PAN-New को सेलेक्ट करे
Paan card select
स्टेप 3
अगर आपके पास ACKNOWLEDGEMENT NUMBER है तो N-(15 digit Number) लिखना है,
15 digit apply number
या
*Name me Click करना है और
Last Name/Surname
First Name
Middle Name
में सही-सही लिखना है

और Date Of Birth लिखना है,
Name search
स्टेप 4
और निचे जो कैप्चा दिख रहा होगा उसे निचे लिखना है,
Pan card submit

स्टेप 5
Submit में क्लीक करना है,

UTIITSL से चेअक करने के लिए 
इस UTIITSL Status में क्लिक करे 

Application Coupon number में क्लिक करना है और या सुधार देखना है तो Pan Number Dale और सबमिट में क्लिक करे |
यह भी जाने
आधार कार्ड लॉक या अनलॉक कैसे करते है ? फ़ायदे और नुकसान
Aadhaar Card Kya Hai ?

कृपया सही लिखेंगे तभी आपको उत्तर प्राप्त होगा,
अगर कुछ खराबी होगा तो वह दिखाया जायेगा, और बन गया होगा तो पैन नंबर दिखाई देगा

Oct 11, 2018

अगर किसी को नजर लग जाये, तो उसे कैसे ठीक करें |
buri jakar wale tera muh kala.jpg

अगर किसी को नजर लग जाये, तो उसे कैसे ठीक करें |

एक समय था, जब लोगो को आसानी से नजर लग, जाता था, लेकिन आज कल विज्ञानं की बढती तकनीक के कारण, इस प्रकार की समस्या नहीं आती है |
लेकिन बच्चों और कुछ लोगो को नजर लग जाती है |

नजर लगना क्या है ?

हमारे शरीर में उर्जा होती है, जब हम किसी चीज को पूर्ण विश्वास के साथ कह देते है, तो वह शब्द उर्जा का रूप ले लेती है, और जिसके प्रति कह रहे होते है, उसे जाकर वही नजर लगना के रूप में लग जाती है |
जैसे आपने कहाँ, यह बच्चा रोता ही नहीं |
जब इस बात को आपने कहाँ तो आपके शरीर से वह उर्जा निकली और बच्चे तक पहुच गई, लेकिन मन में जो उस बच्चे के लिए भाव है, वही उर्जा है |
आपने कहाँ रोता नहीं लेकिन उर्जा ने समझा की, बच्चे को रोना चाहिए |
और बच्चा रोने लग जाता है |
यह तो हुई, नजर लगने की बात, अब जानते है |

नजर लगा हो तो उसे कैसे उतारे |

यहाँ पर समझने वाली बात है, उर्जा दो प्रकार की होती है,
एक सकारात्मक सत्य उर्जा, और दूसरा नकारात्मक गलत उर्जा |
बच्चे का रोना एक प्रकार से नकारात्मक उर्जा है, इसलिए इसे सत्य सकारात्मक उर्जा से इसे दूर कर सकते है, नजर लगे को हटा सकते है |
आपको क्या करना है, अपने हाँथ में पीने का जल लेना है, थोडा सा और तीन बार जय सतनाम कहना है, पुरे विश्वास के साथ, उसके बाद जिसको नजर लगा हो, उसके सिर के ऊपर में उस जल से छिट डाले, उससे बच्चे के ऊपर सकारात्मक सत्य सतनाम उर्जा, फ़ैल जाएगी | और वह बच्चा ठीक हो जायेगा |
उसके बाद उस बच्चे को नींद भी आ सकता है, सोने का मन कर रहा हो तो सुला देवे |
आपको मिर्ची वगैरह का प्रयोग नहीं करना चाहिए, यह बच्चे के आँखों को गलत प्रभाव डालता है | इस तरह से जल का प्रयोग करें |
आपको यह करके देखना चाहिए,
जो आप घर में पानी पीते है उसी जल का उपयोग करें, गंदे जल का उपयोग न करें |
|| जय सतनाम, जय सत्पुरुष गुरुघासीदास ||

Oct 10, 2018

पेट्रोल पंप से जुड़े नागरिको के 10 अधिकार हर किसी को जानना चाहिए |
Petrol Pump Se Jude Nagrik Ke Adhikar.
नमस्कार दोस्तों
आप बाइक तो जरुर चलाते होंगे, अगर बाइक चलाते है तो पेट्रोल डलवाने पेट्रोल पंप भी जरुर जाते है, लेकिन आपको पता है हर ग्राहक को पेट्रोल पंप में कुछ सिविधा जरुर मिलनी चाहिए, या यह सुविधा हर ग्राहक के लिए जरुर होनी चाहिए | अगर पेट्रोल पंप में यह 10 सुविधा नहीं मिलती है तो आप इसकी शिकायत ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से कर सकते है,
1.    हवा भरना ,
पेट्रोल पंप में हवा भरने की सुविधा बिलकुल फ्री होती है, और हवा भरने के लिए एक व्यक्ति होता है, जो आपके टायर में हवा भरता है, और इसका आपको कोई भी चार्ज पैसे के रूप में नहीं देने होते है |
2.    फ्रस्ट एड बाक्स,
किसी प्रकार की चोट लगने या छोटी मोटी खरोच के लिए चिकित्सा बॉक्स जरुर होनी चाहिए | इसका आपको चार्ज नहीं देना होता |
3.    पीने का साफ पानी,
किसी भी पेट्रोल पंप में अगर पीने का साफ पानी नहीं मिलता तो आप इसकी शिकायत करवा सकते है, और पेट्रोल पंप को बंद करवा सकते है |
4.    फोन कॉल की सुविधा,
अगर आप किसी परेशानी में फस जाते है, इसके लिए आप पेट्रोल पंप ऑफिस से फ़ोन कर सकते है यह आपका अधिकार है, इसके लिए पेट्रोल पंप मालिक आपको मना नहीं कर सकता |
5.    वाशरूम की सुविधा,
अगर किसी पेट्रोल पंप में मुतने के लिए और टॉयलेट के लिए सुविधा नहीं है या साफ सफाई ठीक तरह से नहीं है, यूज़ करने लायक नहीं है, तो भी आप इसकी शिकायत करवा सकते है |
6.    शिकायत बॉक्स या शिकायत पंजी,
अगर आपकी कोई शिकायत है, तो आप इसकी शिकायत बॉक्स या शिकायत पंजी के माध्यम से कर सकते है |
7.    डीजल और पेट्रोल की कीमत,
पेट्रोल पंप में बड़े अक्षरों में डीजल और पेट्रोल की कीमत लिखी होनी अनिवार्य है,
8.    फायर उपकरण,
आग लगने पर बुझाने के लिए, बाल्टी में रेत या फायर सेफ्टी होनी अनिवार्य है |
9.    बिल लेने का अधिकार,
अगर आप किसी पेट्रोल पंप में जाते है, और डीजल या पेट्रोल भरवाते है, अगर रसीद मागने पर आपको बिल नहीं दिया जाता तो आप इसकी शिकायत कर सकते है |
10.    मात्रा या क्वालिटी की जाँच,
इसके लिए 5 लीटर का मापक होता है |
इस तरह की सुविधा अगर आपको नहीं मिलती तो इसकी शिकायत आप इस नंबर से कर सकते है,
भारत पेट्रोलियम की कंपनी की शिकायत के लिए
1800 22 4244
मुह में छाले का अचूक उपाय, गारंटी के साथ,
muh me chhale ke liye davai garanti ke sath

छाले का इलाज जानना है तो जरुर पढ़े मेरा गारंटी है आपको

मुह में छाले के लिए दवाई जाने

क्या आपके मुह में छाले हो गए है, तो आज आपको एक ऐसी मेडिकल दवाई के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसका उपयोग मुह में छाले को दूर करने के लिए किया जाता है |
इस दवाई का नाम है freshriv यह इस तरह से दिखाई देता है |
muh me chhale ke liye Freshriv davai garanti ke sath
Freshriv

यह mouth wash jel है
यह किसी भी दवाई दुकान में आपको आसानी से मिल जायेगा |
इसकी कीमत जायदा नहीं 40 रूपये से 70 रूपये तक हो सकती है |
यह एक बोटल है, जिसमे मुह को कुल्ला करने के लिए जल भरा होता है |
इसका स्वाद बिलकुल कोलगेट के जैसा तथा, अच्चा सुगन्धित जल होता है |

इस freshriv दवाई जल का उपयोग ऐसे करना है |

सबसे पहले आपको दवाई की अच्छे से घोलना है, इसके लिए बोटल को हिलाए,
उसके बाद ऊपर का ढक्कन को खोलना है, और दवाई के डिब्बे को दबाना है, उसके बाद जल ऊपर के भाग में आ जायेगा |
उसे आपको मुह में रखकर 5 मिनट तक कुल्ला करना है |
उसे पीना नहीं है, 5 मिनट बाद, मुह से बाहर जल को निकाल दे |

इस जल उपयोग कितने समय करना है |

खाना खाने से पहले 5 ml se कुल्ला करें |
और खाना खाने के बाद थोड़े से 2.5 ml जल से |
याद रखे, कुल्ला करने के बाद खाना खाने से खाना का स्वाद हल्का सा बिना नमक का लगेगा |
इस तरह से आपको जब तक न छोड़े छाला तब तक करते रहे |
मेरा गारंटी है आपको अगर 30 घंठे में कुल्ला करने के बाद भी नहीं छोड़ा तो इस लेख को डिलीट कर दूंगा | मेरा गारंटी है आपको, मै कई बार इसका उपयोग किया है,
आप भी इसका उपयोग करें, अगर आपको यह अच्चा लगे तो कृपया इसे दुसरो तक भेजे , जय सतनाम

Oct 9, 2018

उर्जा क्या है ? उर्जा के प्रकार ? उर्जा के उपयोग ? उर्जा की उत्पत्ति ?
urja kya hai urja ke prakar urja kaise badhaye urja ko jane.jpg

उर्जा क्या है ? उर्जा के प्रकार ? उर्जा के उपयोग ? उर्जा की उत्पत्ति ?

आपसे निवेदन है की बड़े प्रेम से पढ़े जाने की उर्जा क्या है, और इसके बारे में पूरी जानकारी, तो समझते है |
उर्जा 1 एक प्रकार की होती है |

लेकिन उर्जा के दो रूप होते है | जिसे दो प्रकार से उपयोग करते है ?
आपने बिजली का बल्व को, मोबाइल के टॉर्च को जलते जरुर देखा है, आप उसका उपयोग भरपूर मात्रा में करते है |
यह सब उर्जा का खेल है, बैटरी में उर्जा होती है, बैटरी के उर्जा को बिजली के माध्यम से खपत करते है, उसी तरह से घर में लगे बिजली का उपयोग करते है |
आपको पहले बताया जा चूका है, उर्जा 1 है लेकिन उर्जा का उपयोग दो प्रकार से होता है |
एक उर्जा को सकारात्मक उर्जा, जिसे पॉजिटिव उर्जा कहते है |
और दूसरा,
नकारात्मक उर्जा जिसे नेगेटिव उर्जा कहते है |
अध्यात्म की नजर से देखे तो, पहले सिर्फ पॉजिटिव उर्जा ही था, लेकिन जब उर्जा का बटवारा हुआ तो उर्जा दो भाग में बंट गया |
सकारात्मक और नकारात्मक
नकारात्मक उर्जा ने सकारात्मक उर्जा से विनती करके एक वरदान माँगा की |
हे सकारात्मक उर्जा आपकी उर्जा भरपूर है, मेरी उर्जा आपके सामने कुछ भी नहीं है | आप का ही राज सब जगह छाया हुआ है | अतः मुझे वरदान देवे की मै भी अपने उर्जा को सभी ओर फैला सकू ,और अपना राज कर सकूँ |
सकात्मक उर्जा ने, नकारात्मक उर्जा को वरदान दिया की, जाओ अपना उर्जा फैलाओ, लेकिन कुछ बाते है उसे याद रखना,
जो भी मेरे उर्जा से मिलना चाहता है, वह मुझसे मिल सकता है, जब- जब तुम्हारा प्रभाव जायदा होगा, तब-तब मै अपने उर्जा को भेजूंगा, और तुम्हारे नकारात्मक उर्जा के प्रभाव को नष्ट कर दूंगा, और उसे अपने में मिला लूँगा |
यह अध्यात्म की कहानी है जिसे स्पस्ट तरीके से खोलकर नहीं बताया जा रहा है |
आपने दो प्रकार के उर्जा के बारें में जाना, अब विस्तार से जाने,

नकारात्मक उर्जा को, काला जादू कहते है, जिसका उपयोग, गलत कार्यो के लिए लाया जाता है |
और सकारात्मक उर्जा जिसे सफ़ेद उर्जा कहते है, जिसका उपयोग नकारात्मक उर्जा को दूर करने के लिए किया जाता है |
मानव के शरीर में भी दो प्रकार की उर्जा होती है,
आधा सफ़ेद अर्थात सकारात्मक उर्जा, और आधा काला उर्जा अर्थात नकारात्मक उर्जा |
जब यह उर्जा बराबर रूप में होती है, तो उसे शरीर की सामान्य अवस्था कहते है |
जब शरीर में जिस उर्जा की मात्रा अधिक होने लगती है, तो वह अपना प्रभाव भी वैसा ही डालती है |
जब गलत उर्जा की मात्रा बढ़ने लगती है, तो गलत कार्य करने का मन करता है,
और जब सत्य की उर्जा बढ़ने लगती है तो वह लोगो में अपना सत्य प्रभाव फ़ैलाने लगती है |
हम इसे इस तरह से समझ सकते है, जब वही उर्जा अधिक बढ़ जाती है तो वह उर्जा अधिक हो जाने की वजह से, गलत प्रभाव डालना शुरु कर देता है |
और जब वही उर्जा सामान्य में हो तो अच्छा रहता है, अपने इस सकारात्मक उर्जा को, हम बहुत जायदा मात्रा में बढ़ा सकते है, और नकारात्मक उर्जा को दूर भेज सकते है, ऐसा करने से नकारात्मक उर्जा पास भी नहीं आ सकती |
उर्जा की वास्तविकता को समझने के लिए हमें अपने आप को जानना होगा |
क्योकि यह अध्यात्म का ज्ञान है, तथा वैज्ञानिक ज्ञान है |
मानव के उर्जा के अनेक प्रकार के श्रोत होते है लेकिन कुछ श्रोत के बारे में बात करते है |
शरीर की तथा शरीर के अन्दर की उर्जा, जिसे आत्मिक उर्जा कहते है |
आत्मिक उर्जा को सतनाम के प्रकाश से भरपूर मात्रा में भर सकते है |
सत्य की खोज, वास्तविक जिंदगी ही सत्य को खोज सकता है |
गुरुघासीदास बाबा ने इसी उर्जा के बारे में सबको बताया की, पत्थर में उस उर्जा को न खोजो, सत्य के साथ जीवन को जिओ,
सत्य का आचरण करो |
जाति पाती मत मानो |
सभी मानव एक बराबर है |
मूर्ति पूजा मत करो |
सत्य की उर्जा की बढाओ, सूर्य के जैसे |
सत्य के साथ जिओ, मास भक्षण मत करों, जीवो पर दया करों,
मास खाने से सकारात्मक उर्जा कम होने लगती है |
नशा सेवन न करो, यह नकारात्मक उर्जा को बढाती है |
वह उर्जा तुम्हारे अन्दर है, कही और नहीं, उसे कहीं और न खोजो
| हे सत्पुरुष, हे सतनाम, हे सतनाम ||