Jan 16, 2018

आपने चोर-चोर तो जरुर सुना होगा, आखिर वास्तव में चोर की परिभाषा क्या है ?

 क्या आप जानते है चोर किसे कहते है,

chor kise kahte hai puri jankari
 साधारण लोग कहते है, जो चोरी करता है, उसे चोर कहते है, लेकिन चोर की अगर परिभाषा निकाले तो क्या होगा, मेरी नज़र से
परिभाषा :- चोर वह है, जो किसी दुसरे की वस्तु को, बिना अनुमति के चुपके से अपना बनाने की कोशिश करता है |

लेकिन क्या चोरी करना गलत है,

हाँ , चोरी करना गलत है, क्योकि दुसरे की वस्तु दुसरे का होता है, उस पर किसी का कोई हक़ नहीं होता, उस वस्तु को उस मालिक ने न जाने कितने मेहनत से बनाया, सजो कर रखा है,
अगर वह वस्तु का मालिक उसे स्वेच्छा से देना चाहे तो वह चोरी नहीं है,

क्या चोरी करना कला है

हाँ, चोरी करना कला है, लेकिन तब तक जब तक चोरी पकड़ी नहीं जाती, अगर पकडे जाते है तो वह चोरी है |
चोरी जान बुझ कर की जाती है, या अनजाने में हो जाता है |
व्यक्ति अनेक के होते है, बहुत सारे स्वाभिमानी होते है, जो बार-बार दोहराई जाए वह आदत है,
अगर चोरी करने पर दंड क्या मिलेगा, इसकी जानकारी हो, और वह व्यक्ति जानते हुए भी चोरी करें, तो यह निश्चित ही जानबूझकर चोरी है,
अगर यही दंड के ज्ञान के बिना चोरी की जाए तो यह भी चोरी है, लेकिन यह अनजाने में चोरी के सामान है |
इस तरह की चोरी न समझ और बच्चे किया करते है, और जानबूझ कर चोरी, बड़े और समझदार लोग किया करते है |

लेकिन जानबूझ कर चोरी करने की क्या जरुरत |

चोरी एक प्रकार की आदत है, जो लोग आलसी और बिना मेहनत के खाने के आदि हो जाते है, वह लोग चोरी जायदा करते है,
या वे लोग, जो जानते है, मामूली दंड के बाद छुट जायेंगे |
कुछ लोग चोरी को एक खास प्रकार की काबिलियत मानते है, जो कहते है, अपने सामान को सम्हाल कर रखे, नहीं तो वह फालतू सामान है |
बड़ी चोरी खासकरके वह लोग किया करते है, जो खुद को औरो से अधिक चालक समझते है |
बच्चे अगर गलती करें, तो उसे प्यार से समझाए, की वह उसका है, हमारा नहीं, दुसरे की चीजो को बिना अनुमति के नहीं लेते, और बच्चों को किसी दुसरे बच्चे को, चोर कहकर न बुलाये,
क्योकि बच्चों के लिए, जो समझ नहीं आती, उसे समझने के लिए वह वही दोहराने की कोसिस करते है,
आपको यह लेख कैसा लगा जरुर बताए धन्य वाद |

Jan 11, 2018

CGPSC की तैयारी कैसे करें -PSC KI TAIYARI KAISE KARE,
chhattisgarh cgpsc ki taiyari kaise kare
प्रारम्भिक परीक्षा –
प्रथम प्रश्न पत्र – 
भाग -1
 सामान्य अध्ययन – 
इसमें आप भारत के इतिहास, भारत का स्वतंत्रा आन्दोलन, भारत का भूगोल, संविधान और राजव्यवस्था, अर्थशास्त्र, दर्शन काला और संस्कृति के साथ साथ सामान्य विज्ञान, और समसामयिक घटनाएँ. खेल कूद और पर्यावरण से सम्बंधित प्रश्नों की तैयारी कर सकते है |
भाग – 2
छत्तीसगढ़ का सामान्य ज्ञान
छत्तीसगढ़ से सम्बंधित आप, राज्य का इतिहास, स्वतंत्रता आन्दोलन में छत्तीसगढ़ का योगदान, छत्तीसगढ़ का भूगोल, छत्तीसगढ़ का जनगड़ना, छत्तीसगढ़ का पर्यटन केंद्र, कला और संस्कृति, छत्तीसगढ़ अर्थव्यवस्था, प्राकृतिक संसाधन, प्रसासनिक ढांचा, जनजातियाँ तथा समसामयिक घटनाए के प्रशन होते है |

द्रितीय प्रशन पत्र योग्यता परीक्षा
इस पत्र की तैयारी कके लिए संचार कौसल पारस्परिक कौसल, तर्क एवं विश्लेषण, क्षमता, सामान्य मानसिक योग्यता, संख्यात्मक अभिरुचि, हिन्दी एवं छत्तीसगढ़ी भाषा कका ज्ञान आदि से सम्बंधित प्रश्न होते है |
CGPSC में आवेदन कैसे करें ? उत्तर आवेदन सिर्फ ऑनलाइन ही स्वीकार किये जाते है, आप CGPSC की वेबसाइट www.psc.cg.gov.in में आवेदन कर सकते है, और इसी वेबसाइट में परीक्षा की तैयारी के लिए पठ्य्क्रम डाउनलोड कर सकते है |

परीक्षा की तैयारी –
यह पेपर कट ऑफ़ मकर्ष होगा, आप इसकी जानकारी जिला रोजगार अधिकारी से संपर्क कर सकते है, और सामान्य अध्ययन के लिए NCERT की कक्षा 6 से 10 वी तक की पुस्तके एवं उपकार प्रकाशन के अतिरिक्तांक, सामान्य विज्ञान के लिए स्पेक्ट्रम ककी प्रकाशन की पुस्तके, समसामयिक घटनाक्रम के लिए प्रतियोगिता दर्पण एवं सक्सेस मिरर, योजना एवं कुरुक्क्षेत्र पत्रिकाए एवं भारत सरकार की वेबसाइट, www.india.gov.in बहुत उपयोगी है, छत्तीसगढ़ की सामान्य ज्ञान के लिए उपकार प्रकाशन का छत्तीसगढ़ वृहद् सन्दर्भ, अरिहंत और लुसेंथ प्रकाशन की किताबे एवं SCERT रायपुर की कक्षा 3 से 8 वी तक की हिंदी एवं सामाजिक विज्ञान की किताबे बहुत उपयोगी है, छत्तीसगढ़ शासन की वेबसाइट www.cg.gov.in एवं साप्ताहिक पत्रिका रोजगार एवं नियोजन लाभदायक है,
द्रितीय प्रश्न पत्र की तैयारी के लिए,
सामान्य मानसिक योग्यता, तर्कशक्ति, संख्यात्मक अभिरुचि, आर एस अग्रवाल और अरिहंत प्रकाशन की पुस्तार्के उपयोगी है, छत्तीसगढ़ी भाषा के लिए छत्तीसगढ़ी हिंदी ग्रन्थ एकादमी की पुस्तके एवं हिंदी भाषा के लिए डॉ. हरिदेव बाहरी एवं परीक्षा मंथन की पुस्तके उपयोगी और लाभकारी है |
बुझ गया कुल दीपक, भगवान कहाँ था - एक सच्ची कहानी
Bujh gaya kul deepak
मेरा नाम योगेन्द्र कुमार धिरहे है, मुझे बताया गया है, की तुम्हारा धर्म हिन्दू है, पर मुझे यह नहीं बताया गया है की धर्म क्या होता है, अभी मेरी उम्र 23 वर्ष की है, यह जो कहानी कहने जा रहा हूँ यह जीवन की वास्तविक सच्चाई है, इसमें कल्पना का कोई स्थान नहीं है, हमारा एक छोटा सा गाँव है, बच्चे और बुजुर्ग मिलाकर 2500 की जनसंख्या होती है, में स्नातक तक पढाई की है, अभी आगे पड रहा हूँ, हिन्दू धर्म में ऐसा कोई न होगा, जो देवी देवता से परिचित न हो, वह जन्म से ही आस्तिक हो जाता है, भक्ति कैसे करनी है, वह स्वाभाविक बन जाता है, लेकिन कभी आपने सोचा है, जानने की कोसिस की है, की मै पूजा क्यों करता हूँ, मै आरती क्यों देता हूँ, यह प्रश्न इसलिए जरुरी है क्योकि मेरा यह जो विषय है वह इसी पर है, अगर हम भगवान या किसी भी धर्म में किसी की पूजा करते है, तो हमारा कोई न कोई स्वार्थ जरुर होता है, व्यक्ति अपने आप को स्वार्थी मानने से इंकार कर सकता है, लेकिन मै कहूँगा, अगर मोक्ष या दुःख या सुख के लिए पूजा करते हो तो यह मेरी नज़र में स्वार्थ है, क्योकि किसी चीज की भगवान या किसी से चाह करना ही स्वार्थ है, मेरी नज़र में भक्ति तो वह है, जहाँ कुछ माँगा ना जाए, जहाँ किसी चीज की इच्छा न की जाए, साधारण दृष्टि से अगर किसी को पूजा करते हुए देखे तो, एक लड़की, अच्छे पति की चाह, एक पत्नि परिवार की खुशहाली, एक बच्चे की माँ बच्चों के लिए, और एक बुडही माँ अपनों बच्चों की अच्छे कामना के लिए, एक दिन की बात है की मुझे सुनने में पता चला की गाँव में किसी की मृत्यु हो गई है, और पता किया तो पता चला हमारे घर से दूर सामने वाले घर में एक लड़का मर गया है, वह लड़का हमारे गाँव में ऐसा है, की सबसे जायदा होनहार और तरक्की में भी महीने के लाखो कमाने वाला, उस लड़के के एक बड़े पापा है, उनकी कोई चिराग जिसे लड़का कह सकते है, और ईधर ये एक लड़का और एक लड़की, अभी लड़की की शादी की उम्र ठीक हुई है, और लड़के का शादी हुए एक साल ही हुए है, एक तीन माह की लड़की, और बुझ गया परिवार और कुल का दीपक, वह लड़का लाइट से काम करते वक्त करेंट से मर गया | अब यहाँ पर मै सोचता हूँ, अगर भगवान होता तो या गॉड अल्लाह या कोई भी होता तो उस कुल के दीपक के नस्ट होने से जरुर बचा लेता, कहाँ गए उस लड़के के घर सामने वाले दो मंदिर के देवता, जो सुबह सुबह लड़के की माँ दीप जलाती थी, कहाँ गए, उस पत्नि के, उस बहन के, उस माँ के, उस दादी के कर्म जो उन्होंने दीप में जलाये थे, मै यही पर सोचता हूँ अगर वह रखवाला होता तो, दीपक एक बार जल जाता, लेकिन वास्तव में मुझे ज्ञात है, किसी दुसरे पर दोष देना गलत है, जैसे मै भगवान पर दोषी, लेकिन अगर दोष न दूँ तो पूजा अर्चना भक्ति भी क्यों करू |
है किसी के पास जवाब, जो मेरी भावना को समझ पाए, मुझे नास्तिक कहने से पहले ध्यान देना की, मै तुम्से बढकर आस्तिक हूँ |

Jan 9, 2018

Affiliate Program Kya Hai, Aur isSe Paise Kaise Kamaye?
affiliate
Affiliate Program ke bahut sare website aur product hote hai,
Aapko ise samjhane ke liye ek kahani sonata hun,
Kahani ko aap achchhe se samjhenge, to aap isse paise kama sakte hai,
Man Lijiye aapne koi Book likhi hai,
Aur us book ko aap sell karna chahte hai, to kaise sell karenge ek do apne dosto batayenge, isse aap direct sell kar payenge, isse aapko direct munafa bhi hoga,
Affiliate Program Use Kahte hai :- Kisi Product ko sell karne par jo comition milti hai, use affiliate program kahte hai,
Har Program me Har Product % ke anusar pe nirbhar karta hai,
Aap apne book ko kisi dusro ko denge sell karne ke liye, aur jab wah  book sell karega to use aap commiton denge, jisse uski kamai hogi,
Ise ab aapko direct samjhata hun,
Aaj ke samay me koi bhi aadmi apne product ko direct sell nahi karta balki seller ko sell karne ke liye dete hai, selling ke aaj ke samay me bahut sare website hai, jo dusro ke product ko sell karte hai,
Jo sell karta hai, usko us product ke anusar se jo % hota hai utna paise use diya jata hai,
Jaise 10000 ka saman hai, aur is product ka % seller ka hai, to
1000 bechne wale ko milega,
Aap is madhyam se achchhe paise kama sakte hai,
Agar aapne koi book padhi hai, to uske bare me online facebook ya kisi madhyam se apne dosto ko bataye aur apni id ke madhyam se book lene ke liye kahe,
Aapko Affiliate se paise kamane ke kuchh best website bata raha hun
Amazon, flipkart, snapdeal, myntra, is tarah se bahut sare website,
Agar aap wastav me isse paise kamane chahte hai to Youtube me Affiliate program in hindi likhe aur bahut sare video dekhe,
PSC मुख्य परीक्षा एवं साक्षात्कार और चयन की पूरी जानकारी
Mukhya pariksha aur sakshatkar ki taiyari kaise kare
यह तीसरा पार्ट है अगर आप शुरु से CGPSC के बारे में जानना चाहते है तो नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से पड सकते है|
CGPSC छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग (राज्य सेवा भर्ती परीक्षा ) में भाग कैसे ले सकते है
मुख्य परीक्षा के प्रश्न पत्र पहले के नियम जैसे परंपरागत प्रकार के वर्णनात्मक लघु /मध्यम / दीर्घ उत्तरीय प्रश्न होते है |
लिखित परीक्षा के लिए प्रश्न पत्र परीक्षा योजना इस अनुसार से है –
कुल मिलाकर सात प्रकार के प्रश्न पत्र होते है
अंक -
सभी प्रश्न पत्र अधिकतम अंक 200 होते है,
समय –
सभी प्रश्न पत्र की समय सीमा 3 घंठा होते है,
विषय –
प्रथम प्रश्न पत्र –
विषय – भाषा (सामान्य हिन्दी / संस्कृत / अंग्रेजी / छत्तीसगढ़ी )
द्रितीय प्रश्न पत्र –
विषय – निबंध ( 1. राष्टीय स्तर की समस्याए, 2. छ.ग. राज्य की समस्याए )
तृतीय प्रश्न पत्र –
विषय - इतिहास, संविधान एवं लोक प्रशासन,
चतुर्थ प्रश्न पत्र –
विषय – विज्ञान, प्रौधोगिकी एवं पर्यावरण,
पंचम प्रश्न पत्र –
विषय – अर्थव्यवस्था एवं भूगोल
षष्ठम प्रश्न पत्र –
विषय – गणित एवं तार्किक योग्यता
सप्तम प्रश्न पत्र –
विषय – दर्शन एवं समाजशास्त्र,
कुल मिलाकर टोटल 1400 अंक होते है, मुख्य परीक्षा में,
टीप :- मुख्य परीक्षा के लिए भी, प्रारम्भिक परीक्षा की तरह न्यूनतम अर्हक अंक आवेदकों को प्राप्त करना होता है |
साक्षात्कार –
मुख्य परीक्षा में पेपर दिलाये गए सभी व्यक्ति का उच्च से निम्न अंक प्राप्त करने वाले अभ्यर्थी की वरीयता सूचि तैयार की जाती है,  उसके बाद प्रत्येक पद के विरुद्ध 3 आवेदकों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है,
साक्षात्कार अधिक अंक 150 अंक का होता है,
साक्षात्कार में पास होने के लिए अंक अधिक से अधिक प्राप्त करने के कोई नियम नहीं है,
साक्षात्कार में व्यक्ति के गुणों और काबिलियत को देखा समझा परखा जाना जाता है, और यह साक्षात्कार व्यक्ति के क्षमता को दर्शाता है,
साक्षात्कार में इस बात का ध्यान दे,
जो प्रशन पूछा जाए, उसका उत्तर अगर मालूम हो तो देवे, अन्यथा यह कहे मुझे इसके बारे में जानकारी नहीं, जिस प्रश्न का उत्तर मालूम नहीं उसका गलत उत्तर न दे, झूट ना बोले,
द्रितीय श्रेणी के पदों में छत्तीसगढ़ी बोली का ज्ञान रखने वाले आवेदकों को विशेष अंक प्रदान किये जाने का प्रावधान है |
चयन प्रक्रिया –
मुख्य परीक्षा एवं साक्षत्कार में प्राप्त कुल अंको के आधार पर अभ्यर्थी द्वारा अग्रमान्यता पत्रक में दिए अधिमान के क्रम अनुसार पद आबंटित किये जाते है, अग्रमान्यता पत्रक में जिन पदों के लिए अभ्यर्थी द्वारा अधिमान नहीं दिया जाता है, उन पदों के लिए उसके नाम पर विचार नहीं किया जाता है  |

Jan 8, 2018

अपने पसंद के प्रोग्राम को तुरंत कैसे खोल सकते है Shourt Cut Key से
नमस्कार दोस्तों
हम रोजाना कंप्यूटर चलाते है, और रोजाना एक ही प्रोग्राम को बार-बार खोलते है,
क्या आप कुछ अपने कंप्यूटर में ऐसा सेटिंग नहीं करना चाहते, जिसे सिर्फ दबाने के बाद अपने पसंद का प्रोग्राम तुरंत खुल जाए |
बताने से पहले कुछ स्टोरी सुनाना चाहता हूँ,
जब मै कंप्यूटर में काम कर होता तो मुझे अचानक फ़ोन आता या कुछ याद आता, मुझे तुरंत उसे लिखना होता था, और आप तो जानते है, समय पर पेन और किताब मिलना कितना मुश्किल होता है,
मै आपको नोट पेड कैसे ओपन करते है यही बता रहा हूँ, आप इसे किसी भी प्रोग्राम में सेटिंग कर सकते है,
तो आइये यह सेटिंग शुरु करते है,
सबसे पहले आपको Start  में जाना है ,
फिर Proggrams  में जाना है,
उसके बाद Assessories >> में जाना है,
और Note Pad  में माउस से Right Click  करना है,
और Properties में Click  करना है,

None की जगह पर एक बार क्लिक करना है,

अब Clrt और Alt और N को एक साथ दबाना है, आपको इस तरह का चित्र अनुसार दिखाई देगा,
अब आपको Apply में क्लिक करना है उसके बाद Ok में क्लिक करना है,
अपने पसंद के प्रोग्राम को तुरंत कैसे खोल सकते है Shourt Cut Key से
टेस्ट करने के लिए नोट पेड को बंद कर देना है, उसके बाद आप किसी भी प्रोग्राम में काम क्यों न कर रहे हो, न
आपको यह शार्ट कट की दबाना है, एक साथ Ctrl+Alt+N
टीप :- आप इसी तरह से किसी भी प्रोग्राम में यह की अपने पसंद का सेट कर सकते है,
धन्यवाद्

Jan 6, 2018

How to Tack Screen Shot without Any Software ? स्क्रीन शॉट क्या है और कैसे ले,
Bina Software ke screen shot kaise lete hai.jpg
नमस्कार दोस्तों
आज आप सभी को एक जरुरी काम की ट्रिक बताने जा रहा हूँ,
आज इस पोस्ट में हम स्क्रीन शॉट के बारे में जानेगे,
आप सभी को इसके बारे में जरुर जानना चाहिए की

स्क्रीन शॉट क्या होता है, और स्क्रीन शॉट कैसे लेते है,

कंप्यूटर और इन्टरनेट की स्क्रीन में जो भी दिखाई देता है उसे स्क्रीन कहते है, और स्क्रीन शॉट उसे कहते है,
स्क्रीन में जो भी दिखाई दे रहा होता है उसे जैसे का तैसा स्क्रीन का फोटो खीचना उसे स्क्रीन शॉट कहते है,
स्क्रीन शॉट लेने से स्क्रीन चित्र में बदल जाता है, और इसे हम अपने कंप्यूटर और मोबाइल में चित्र के रूप में सेव कर सकते है,

स्क्रीन शॉट की जरुरत कहाँ और क्यों पड़ती है,

जब हम कंप्यूटर और मोबाइल में काम कर रहे होते है, और कभी कभी ऐसा समय आता है, जब हमें स्क्रीन की चित्र की जरुरत होती है, जैसे
जरुरी जानकारी को, और कभी इमेज को बिना डाउनलोड किये स्क्रीन के मध्यम से सेव करने की तो कभी, जरुरी जानकारी को पेमेंट करने के बाद स्क्रीन शॉट लेने की, या स्क्रीन में आ रही किसी जानकारी या एरर को बताने में, जैसे मेरा एक दोस्त है, जो बैंक में है उसका आई डी काम नहीं कर रहा था एरर आ रहा था, उसे उस एरर का स्क्रीन शॉट लेना था ताकि ओ बैंक में इसकी जानकारी दे सके, और इसी तरह की स्क्रीन शॉट लेने की उसे बार बार जरुरत पड़ती थी,
वह हमेशा मेरेपास कॉल करता था, और मै उसे फ़ोन पर बताता था,
उसने कहाँ कोई ऐसा तरीका बताओ की मै कभी ना भूलू, वैसे तो मैंने इसे बहुत सारे तरीके बताये थे, आज आपको भी बहुत सारे तरीके ट्रिक बताने जा रहा हूँ |
स्क्रीन शॉट कैसे लेते है,
स्क्रीन शॉट लेने के लिए वैसे तो बहुत सारे सॉफ्टवेर है आज आपको बिना सॉफ्टवेयर के स्क्रीन शॉट कैसे लेते है यह जानेगे | तो शुरु करते है, ,आप कुछ चित्र देख सकते है स्क्रीन शॉट के नीचे में है
स्क्रीन शॉट तरीका नंबर 1
आप लैपटॉप या कंप्यूटर की कीबोर्ड में स्क्रीन शॉट लेने के लिए एक बटन होता है, इसकी मदद से आप स्क्रीन शॉट ले सकते है और सबसे सरल तरीका है,
इस बटन का नाम है (Print Screen SysRq ) जब आपको स्क्रीन शॉट लेने हो तो आपको, इस बटन को एक बार दबाना है,
print screen key
और आप MSpaint एम एस पेंट ओपन करना है और आपको एम एस पेंट में Ctrl + V  करके पेस्ट करना है, आप देखेंगे की जब आप Print Screen SysRq को दबाये थे, उस समय का चित्र, एम एस पेंट में आ गया है,
इसके बाद आप क्रॉप करके सेव कर सकते है, या सेव करने के बाद क्रॉप कर सकते है |
शॉट नंबर 2
सबसे पहले आप Micro Soft Office OneNote ओपन करना है, उसके बाद
मेनू बार में  राईट क्लिक करके  Standard को क्लिक करके ओपन कर लेना है,
उसके बाद क्लिप में क्लिक करना है,
clip
और जितना आपको शॉट लेने है वहां तक खीचना है, वह आपके onenote में आ जायेगा, उसके बाद,
चित्र में राईट क्लिक करना है और और save as में क्लिक करना है,
save as

स्क्रीन शॉट नंबर 3
स्टार्ट में जाने के बाद >> प्रोग्ग्रामफाइल्स >> Accessories  >> Snipping Tool snipping tool
New  में क्लिक करना है,

Snipping image
 उसके बाद जहाँ से स्क्रीन शॉट लेना है वहां तक खीचना है, उसके बाद फाइल में जाकर या सीधे Ctrl + S करके सेव कर लेना है,

दोस्तों आपने बिना सॉफ्टवेर के बहुत सारे ट्रिक जाने आशा करता हूँ की आप इस वेबसाइट www.inhindiindia.in  इन हिंदी इंडिया को याद रखेंगे | धन्यवाद्

Jan 5, 2018

CGPSC में आवेदन कैसे कर सकते है, ऑनलाइन होता है या ऑफलाइन
CGPSC Apply Process
पिछले लेख के माध्यम से आपने जाना की CGPSC में किन- किन पदों पर परीक्षा आयोजित की जाती है, और शैक्षणिक योग्यता क्या होती है, साथ में आपने जाना की, शारीरिक मापदंड, और नियुक्ति हेतु आहर्ता, और आयु सीमा क्या होती है,
और आपने जाना की दुसरे राज्य के आवेदकों के लिए क्या नियम है,
अगर आप इन जानकारियों को विस्तार से पड़ना चाहते है तो नीचे लिंक से पड सकते है,

CGPSC में आवेदन कैसे कर सकते है,

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग में ऑनलाइन माध्यम से आवेदन आमंत्रित किये जाते है, और ऑफलाइन के माध्यम से आवेदन नहीं किया जाता
ऑनलाइन के लिए वेबसाइट www.psc.cg.gov.in है,
परीक्षा की योजना कैसे करें 
यह परीक्षा 3 चरणों में आयोजित किया जाता है –
1.    प्रारम्भिक परीक्षा – लिखित परीक्षा ( वस्तुनिस्ट बहुविकपीय प्रकार )
2.    मुख्य परीक्षा – लिखित परीक्षा (वर्णात्मक प्रकार )
3.    और अंतिम में साक्षात्कार

प्रारम्भिक परीक्षा की तैयारी –

प्रारम्भिक परीक्षा यह वस्तुनिष्ट प्रकार की होती है,
इसकी संरचना इस प्रकार से है,
एक ही दिन में दो पेपर आयोजित किये जाते है,
प्रथम प्रश्न पत्र और द्रितीय प्रश्न पत्र
प्रथम प्रश्न पत्र
यह विषय में दो भाग में होता है,
भाग – 1 सामान्य अध्ययन
भाग – 2 छत्तीसगढ़ का सामान्य ज्ञान
दोनों में प्रश्नों की संख्या 50+50=100
एक प्रशन पर दो अंक होंगे इस अनुसार से टोटल 200 अधिकतम हुए,
समय सीमा 2 घंठे,
यह पेपर समाप्त होने के बाद उसी दिन 2 से तीन घंठो के बाद फिर से द्रितीय प्रश्न पत्र के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है |
विषय – योग्यता परीक्षा
प्रश्नों की संख्या – 100
टोटल अंक – 200
समय – 2 घंठे,
टीप :- यह दोनों प्रश्न वतुनिष्ट प्रकार के होंगे,
हर प्रश्न के उत्तर में 5 विकल्प होंगे,
सही उत्तर पर दो अंक दिए जायेंगे और गलत उत्तर पर एक अंक काट दिए जायेंगे,
अर्थात यह पेपर कट ऑफ़ मार्क होगा |

न्यूनतम अर्हक अंक

1.    प्रत्येक प्रश्न पत्र में सामान्य वर्ग के आवेदक को अलग अलग कम से कम 33 प्रतिशत अंक प्राप्त करना जरुरी है, और
2.    अजा/अजजा/अपिव के आवेदकों के लिए यह अंक 23 प्रतिशत होता है,
3.    न्यूनतम अर्हक अंक प्राप्त करने वाले आवेदकों के दोनों प्रश्न पत्रों के कुल प्राप्तांक के आधार पर वरीयता सुंची मुख्य परीक्षा के लिए तैयार की जाती है |